CM केजरीवाल के घर में CS को MLA ने थप्पड़ मारा, IAS एसोसिएशन हड़ताल पर | NATIONAL NEWS

20 February 2018

नई दिल्ली। नई दिल्ली में ​बड़ा पॉलिटिकल इश्यू हो गया है। राज्य के चीफ सेक्रटरी अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर विधायक अमानतुल्ला ने उन्हे थप्पड़ मारा और गालियां दीं। इसके बाद आईएएस एसोसिएशन हड़ताल पर चली गई है। एसोसिएशन विधायक के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रही है। इधर विधायक अमानतुल्ला ने इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है। इसके अलावा संगम विहार थाने में विधायक प्रकाश जारवाल ने मुख्य सचिव के खिलाफ जातिसूचक शब्दों के प्रयोग करने की शिकायत दर्ज कराई गई है। विपक्षी दल कांग्रेस और भाजपा ने आम आदमी पार्टी सरकार को निशाने पर ले लिया है। इसे दिल्ली का सबसे बड़ा राजनैतिक संकट बताया जा रहा है। 

आम आदमी पार्टी ने दी सफाई

इस घटना के बाद AAP ने इन आरोपों पर सफाई दी है। एक बयान जारी कर AAP ने कहा कि दिल्ली के 2.5 लाख परिवारों का आधार राशन कार्ड से नहीं जुड़े होने के कारण उन्हें राशन नहीं मिल पाया है। इसके कारण उन क्षेत्र के विधायकों पर लोगों का काफी दबाव है। इसी पर सीएम के घर पर विधायकों की बैठक थी। इस दौरान चीफ सेक्रटरी ने सवालों का जवाब देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि वह विधायकों और सीएम के प्रति नहीं बल्कि उपराज्यपाल के प्रति जवाबदेह हैं। 

चीफ सेक्रटरी ने विधायकों से अभद्र भाषा में बात की

AAP ने आरोप लगाया कि उल्टे चीफ सेक्रटरी ने कुछ विधायकों के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया और बिना सवालों का जवाब दिए वहां से चले गए। पार्टी ने आरोप लगाया कि चीफ सेक्रटरी बीजेपी की तरफ से यह आरोप लगा रहे हैं। बीजेपी निचले स्तर की राजनीति कर रही है। इस बीच, AAP के विधायक ने चीफ सेक्रटरी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। संगम विहार थाने में विधायक प्रकाश जारवाल ने मुख्य सचिव के खिलाफ जातिसूचक शब्दों के प्रयोग करने की शिकायत दर्ज कराई गई है। 

कांग्रेस ने खोला मोर्चा

इस घटना के बाद विपक्ष ने भी केजरीवाल सरकार के खिलाफ हमलावर रुख अख्तियार कर लिया है। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष माकन ने आरोप लगाया कि AAP सरकार निकम्मी है। सीएम के सामने चीफ सेक्रटरी को विधायकों द्वारा पीटा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। यह सरकारी असफलताओं से लोगों का ध्यान भटकाने का तरीका है। AAP को शासन चलाने नहीं आता है और यह सरकार पूरी तरह असफल है। इस घटना के बाद बीजेपी ने केजरीवाल सरकार को अराजक करार देने के बाद राजधानी में राष्ट्रपति शासन की मांग कर रही है। 

भाजपा ने इसे शहरी नक्सलवाद बताया

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट करते हुए इस घटनाक्रम को शर्मनाक बताया और इसे शहरी नक्सलवाद करार दिया। दिल्ली विधानसभा के नेता विपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने इस घटना पर ट्विट करते हुए लिखा कि यह मुख्यमंत्री केजरीवाल के तानाशाह रवैये को दर्शाता है। आधी रात 12 बजे मुख्यसचिव को बुलाया जाता है और उनके साथ बदसलूकी की जाती है। 

IAS असोसिएशन हड़ताल पर 

इस मामले पर आईएएस संगठन बैठक की है और इस बारे में एलजी से शिकायत किया। IAS असोसिएशन ने आरोपी विधायकों की गिरफ्तारी की मांग की है। कार्रवाई होने तक अधिकारी हड़ताल पर चले गए हैं। असोसिएशन ने आरोप लगाया कि दिल्ली में संवैधानिक संकट का माहौल है। वहीं, चीफ सेक्रटरी इस मामले में पुलिस केस दर्ज करवाने की तैयारी कर रहे हैं। खबरें हैं कि केस दर्ज करवाने से पहले चीफ सेक्रटरी एलजी से मंजूरी और राय-मशविरा करने के लिए उनसे मुलाकात करने पहुंचे हैं। 

आरोपी विधायक की सफाई

उधर, पार्टी के विधायक अमानतुल्ला भी थप्पड़ मारने के आरोप को निराधार और गलत बता रहे हैं। उनका कहना है कि चीफ सेक्रटरी झूठ बोल रहे हैं। न्यूज चैनल टाइम्स नाउ से फोन पर बातचीत में उन्होंने पुलिस को चुनौती देते हुए कहा, 'साबित करें कि मैंने चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट की।' 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->