PACL: मालिक निर्मल सिंह की 472 करोड़ की संपत्ति जब्त | NATIONAL NEWS

Tuesday, January 9, 2018

नई दिल्ली। ED ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए PEARLS GROUP के मालिक निर्मल सिंह भंगू की 472 करोड़ रुपए की PROPERTY जब्त कर ली है। इसमें ऑस्ट्रेलिया के दो HOTEL और कई जगह की जमीन शामिल है। भंगू पर आरोप है कि उसने ये प्रॉपर्टी पॉन्जी स्कीम्स (PONZI SCHEME) से इकट्ठा की है। भंगू ने पांच करोड़ से ज्यादा लोगों को FRAUD INVESTMENT SCHEME में फंसाकर हजारों करोड़ रुपए इकट्ठा करके विदेशों में लगाया। इस मामले में CBI पहले ही निर्मल सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है। उसकी करीब 1000 करोड़ की प्राॅपर्टी को भी पहले जब्त किया जा चुका है। निर्मल सिंह भंगू की भारत में भी हजारों एकड़ जमीन और 100 से ज्यादा बैंक खाते सीज किए जा चुके हैं।

साइकिल पर दूध बेचता था निर्मल सिंह भंगू
PEARLS GROUP का मालिक निर्मल सिंह भंगू पंजाब के बरनाला जिले का रहने वाला है। बताया जाता है कि वह जवानी के दिनों में अपने भाई के साथ साइकिल से दूध बेचता था। इसी दौरान उसने पॉलिटिकल साइंस में पोस्‍ट ग्रैजुएशन भी किया। इसके बाद JOB की तलाश में वह 70 के दशक में कोलकाता चला गया। जहां उसने एक फेमस इनवेस्टमेंट कंपनी PEERLESS में कुछ साल तक काम किया। उसके बाद इन्वेस्टर्स से करोड़ों की ठगी करने वाली हरियाणा की कंपनी GOLDEN FOREST INDIA LIMITED में काम करने लगा। इस कंपनी बंद होने के बाद निर्मल सिंह बेरोजगार हो गया।

इसी कंपनी के काम करने के आइडिया के तहत उसने 1980 के दशक में PEARLS GOLDEN FOREST (PGF) नाम की कंपनी बनाई। यह कंपनी भी गोल्डन फॉरेस्ट इंडिया लिमिटेड की तर्ज पर लोगों से सागौन जैसे पेड़ों के प्लांटेशन पर इंवेस्टमेंट कर कुछ वक्त बाद अच्छा मुनाफा लौटाने का वादा करती थी। 1996 तक इससे उसने करोड़ों की रकम जुटा ली थी। इस दौरान INCOME TAX और दूसरी जांचों के चलते इस कंपनी को बंद कर दिया।

ऐसे खड़ा किया था विदेशों तक अपना एम्पायर
इसके बाद उसने पंजाब के बरनाला से एक नई कंपनी PACL यानी PEARLS AGROTECH CORPORATION LIMITED की शुरुआत की। ये एक चेन सिस्टम स्कीम्स थी। कंपनी के दिए बड़े मुनाफे के दावों और वादों के लालच में करीब पांच करोड़ से ज्यादा लोगों ने इसमें पैसा लगा दिया। इसके तहत लोगों से हर महीने मामूली रकम जमा करवाई जाती थी। इसी स्कीम में करीब पांच करोड़ से ज्यादा लोगों से जुटाई गई छोटी-छोटी रकम से उसने देश ही नहीं विदेश में तक पर्ल्स ग्रुप का एम्पायर खड़ा कर लिया। 

इन करोड़ों की रकम को भंगू ने अलग-अलग तरह के कई कारोबार में इन्वेस्ट किया। जब वादे के मुताबिक इन्वेस्टर्स को उनका लगाया पैसा नहीं लौटाया गया तो कंपनी के खिलाफ लोगों शिकायत दर्ज करानी शुरू कर दी। जालसाजी का आरोपी निर्मल सिंह भंगू फिलहाल सीबीआई की गिरफ्त में है।

पूरे देश में है भंगू की अरबों रुपए की प्रॉपर्टीज
पर्ल्स ग्रुप की प्रॉपर्टी देश के करीब हर छोटे और बड़े शहर में है। राजधानी दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चंडीगढ़, मोहाली समेत टॉप सिटीज इसमें शामिल हैं। दिल्ली के कनॉट प्लेस में ही पर्ल्स ग्रुप की करीब 61 प्रॉपर्टीज हैं, जिनकी कीमत अरबों में है। इसके अलावा दिल्ली में ही पर्लग्रुप की अरबों की जमीन भी है। मोहाली में तो पर्ल्स ग्रुप के हाउसिंग सोसायटी से लेकर हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज तक हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week