फ्लाइट को हवा में लहराता छोड़: महिला और पुरुष पायलट कॉकपिट से बाहर झगड़ने लगे | NATIONAL NEWS

Thursday, January 4, 2018

मुंबई। जरा सोचिए, आप एक विमान में है। FLIGHT हजारों फीट की ऊंचाई पर हवा की स्पीड से उड़ रहा है कि अचानक कॉकपिट का दरवाजा खुलता है और एक महिला को-पायलट बाहर आती है। यह सामान्य बात है, क्योंकि अभी कॉकपिट में पायलट मौजूद है परंतु तभी कॉकपिट से महिला को-पायलट को वापस बुलाने के लिए सिग्नल बजता है, को-पायलट अंदर नहीं जाती। थोड़ीदेर बाद फ्लाइट को हवा में लहराता छोड़ पायलट भी बाहर निकल आता है। अब विमान में बैठे यात्रियों की हालत क्या होगी। कुछ ऐसा ही घटनाक्रम बुधवार को हुआ है। 

JET AIRWAYS की फ्लाइट लंदन से मुंबई आ रही थी। कॉकपिट में हमेशा की तरह पायलट और को-पायलट मौजूद थे, जो कि रिश्ते में लिव-इन पार्टनर भी थे। विमान हवा में ही था, तभी दोनों के बीच किसी बात पर बात बिगड़ गई। झगड़ा शुरू हो गया। बात इतनी बढ़ी कि पायलट ने अपनी महिला को-पायलट पर हाथ उठा दिया। महिला पायलट ने हवा में ही कॉकपिट छोड़ दिया। रोते हुए बाहर आ गई। कहा- नहीं उड़ाऊंगी प्लेन। विमान पूरी रफ्तार में था। इतने में कॉकपिट से पायलट मदद के लिए को-पायलट को कॉकपिट में वापस भेजने के सिग्नल देने लगा। महिला को-पायलट ने जाने से साफ मना कर दिया। केबिन क्रू के हाथ-पांव तब और फूल गए जब को-पायलट को कॉकपिट में वापस ले जाने के लिए पायलट भी बाहर आ गया। 

कॉकपिट के बाहर गैलरी में खड़े दोनों पायलट झगड़ने लगे। केबिन क्रू ने पहले तो पायलट को वापस कॉकपिट में भेजा, फिर तमाम मिन्नतों के बाद को-पायलट को भी मनाकर वापस कॉकपिट में भेजा। कुछ मिनट ही बीते थे कि महिला पायलट फिर रोते हुए बाहर आ गई। केबिन क्रू ने फिर समझाकर वापस कॉकपिट में भेजा। जैसे-तैसे फ्लाइट की मुंबई में सेफ लैंडिंग कराई गई। घटना 1 जनवरी की है। 

जेट की इस फ्लाइट 9डब्ल्यू-119 में केबिन क्रू और पायलट टीम के 14 सदस्यों सहित कुल 324 लोग सवार थे। जेट एयरवेज ने माना कि पायलट और को-पायलट ने लापरवाही की और अनप्रोफेशनल रवैया दिखाया। कॉकपिट में सिर्फ एक पायलट का होना, दूसरे का बाहर बैठकर रोना और फ्लाइट का कॉकपिट छोड़कर दोनों पायलट का बाहर आ जाना एयरलाइंस के नियमों की धज्जियां उड़ाने वाला था। बड़ा हादसा हो सकता था। 

एयरलाइंस ने घटना की पूरी जानकारी डीजीसीए को दी है। मामले की आंतरिक जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं। पुरुष पायलट का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया गया है, जबकि महिला पायलट को ग्राउंड अटैच किया गया है। जेट ने बयान जारी किया है कि- 'जेट एयरवेज के लिए यात्रियों, चालक दल और विमान की सुरक्षा सबसे अहम है। इससे समझौता करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति अपनाई जाएगी।' 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah