चमत्कारी सफलता और शत्रुओं पर विजय चाहिए तो गुप्त रूप से यह प्रयोग करें | JYOTISH

Tuesday, January 16, 2018

इस बार माघ गुप्त नवरात्रि का पर्व 18 JAN से 26 JAN 2018 तक मनाया जायगा। वैसे तो पूरे वर्ष मे दो नवरात्रि होती है जिसे सभी लोग जोर शोर से मनाते है लेकिन इसके अलावा आषाढ़ और माघ शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवमी तक नौ दिन GUPT NAVRATRI के रूप मे मनाए जाते है। चूंकि ये साधना गुप्त रूप से होती है इसलिये इसे गुप्त नवरात्रि कहते हैं। पहले दो नवरात्रि की तरह ही सभी नौ माता का एक एक दिन होता है। चूंकि ये साधना गुप्त रूप से होती है इसीलिये विशेष रूप से फलदायी होती है। तन्त्र साधकों के लिये ये साधना खास रूप से फलदायी होती है, चूंकि यह साधना अति गुप्त रूप से की जाती है, इसीलिये इसका प्रभाव भी अन्य साधना की तुलना मे ज्यादा फलदायी है।

साधकों के लिये खास / VERY SPACIAL FOR PERFECTIVE
पूरा संसार शक्ति के दम पर ही चल रहा है। बिना ENERGY के जीव शिव की जगह शव ही होता है। जो जातक इन चार नवरात्रि मे व्रत उपवास (VRAT-UPWAS) द्वारा शक्ति का जागरण करते है वे LIFE मे चाहे कितनी वही अशुभ (UNLUCKY) स्थिति मे हो उस पर विजय (VICTORY) प्राप्त कर अच्छी स्थिति मे पहुंचते हैं। मां भगवती की शक्ति से ही समस्त ब्रम्हान्ड चलायमान है। जो भी व्यक्ति इस रहस्य को जानकर नौ दिन व्रत संयम और आहार संयम करता है वह व्यक्ति अपने आपको इन नौ दिन की साधना के प्रभाव से स्वयं को दिव्य शक्ति से चार्ज या शक्तिशाली पाता है। ऐसे व्यक्ति इन साधना के दम पर खुद पर विजय तो प्राप्त करते ही है साथ ही दुनिया पर भी विजय प्राप्त करते है।

विद्यार्थी वर्ग तथा व्यापारी (STUDENTS and BUSINESSMEN) को अपने क्षेत्र मे दिमागी शक्ति का विशेष प्रयोग करना पड़ता है। सामान्य ग्रह योग वाले जातक शिक्षा और व्यापार की प्रतिस्पर्धा (COMPETITION) का सामना नही कर पाते। फलस्वरूप समझौते या असफलता प्राप्त करते है लेकिन जो लोग भगवती की साधना करते है वे लोग शिक्षा व्यापार तथा जीवन के हर क्षेत्र मे सफल (SUCCESS) होते है।

माघ गुप्त नवरात्रि 2018
इस बार माघ गुप्त नवरात्रि 18 जनवरी से 26 जनवरी तक रहेगी 26 जनवरी को नवरात्रि व्रत खोला जायेगा। जो भी व्यक्ति संयम व्रत द्वारा अपने जीवन को सफल बनाना चाहता है उसे इन नौ दिन की साधना अवश्य करना चाहिये।

ये हैं नौ दिन
18 जनवरी गुरुवार- घट स्थापना एवं मां शैलपुत्री पूजन।
19 जनवरी शुक्रवार- मां ब्रह्मचारिणी पूजन।
20 जनवरी शनिवार- मां चंद्रघंटा पूजा।
21 जनवरी रविवार- मां कुष्मांडा पूजा।
22 जनवरी सोमवार- मां स्कंदमाता पूजा, बसंत पंचमी।
23 जनवरी मंगलवार- मां कात्यायनी पूजा।
24 जनवरी बुधवार- मां कालरात्रि पूजा।
25 जनवरी गुरुवार- मां महागौरी पूजा, दुर्गा अष्टमी।
26 जनवरी शुक्रवार- मां सिद्धिदात्री पूजन।

जैसी आपकी सामर्थ्य हो वैसी साधना अवश्य करनी चाहिये। कहते है की इन नौ दिन में राम नाम का स्मरण जातक को अपार शक्ति देता है तथा इसे जपने के लिये किसी गुरु या विशेष अनुमति की आवश्यकता नही होती। कलयुग मे भगवान शिव के आशीर्वाद से इसे सभी लोग जप सकते है तथा इसका प्रभाव अमोघ है।

रामरक्षास्त्रोत पाठ / GUPT NAVRATRI VIDHI
भगवान शिव ने स्वयं कहा है की एक 'राम नाम' विष्णु सहस्त्रनाम नाम के तुल्य है। गुप्त नवरात्रि के नौ दिनो मे यदि आप संयम पूर्वक दिन मे नौ बार रामरक्षास्त्रौत्र का पाठ करते हैं तो नौ दिनों की यह साधना आपके पिछले पापों को तो नष्ट करेगी ही साथ ही आपके अंदर दिव्य शक्ति का विकास होगा जो आपको जीवन मे सभी सफलता प्रदान करेगी।
प.चंद्रशेखर नेमा"हिमांशु"
9893280184, 7000460931

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah