पढ़िए यंग लीडर, सुन्दर कन्या और राखी वाले भैया की रंजिश क्या है | HP CONSPIRACY

Monday, January 29, 2018

श्रीमद डांगौर/भोपाल। बिगबॉस खत्म हो गया लेकिन मप्र में इन दिनों एक यंग लीडर की रंगीन कहानी और उसके बाद शुरू हुआ रिएलिटी शो 'कभी ब्लैक कभी व्हाइट' काफी सुर्खियों में हैं। कुछ कुर्ताधारियों के लिए तो यह पद्मावत से भी ज्यादा रुचिकर है। दरअसल, इस रिएलिटी शो 'कभी ब्लैक कभी व्हाइट' में सबकुछ है। रोमांस, ड्रामा, सस्पेंड और थ्रिलर भी। हर रोज एक कहानी सामने आ रही है। आइए देखते हैं आज के एपिसोड में क्या हुआ। 

अब तक आपने देखा: 
यूपी के एक गांव की लड़की एमपी के एक बड़े शहर में आकर पढ़ने लगती है। महत्वाकांक्षाएं उसे उसकी पारिवारिक सीमाओं से काफी आगे ले जातीं हैं। तभी उसकी नजर एक यंग एंड फ्रेश लीडर पर पड़ती है। लड़की उसे प्रपोज करती है और यंग लीडर भी मौके का फायदा उठाता है। मेल मुलाकातों का दौर शुरू होता है और फिल लाइट बंद हो जाती है। यंग लीडर अब किसी और के सपनों में खो जाता है। लड़की उसे धमकाती है। यंग लीडर उसे जेल भिजवा देता है। पता चलता है कि एक पंजाबी मुंडे ने भी इस शो में छोटा सा किरदार निभाया है। ये किरदार था तो छोटा लेकिन बड़ा धमाकेदार निकला। पता चला कि पंजाबी मुंडा तो राखी वाले भैया का पट्ठा है। 
अब अब आगे: 
रिएलिटी शो 'कभी ब्लैक कभी व्हाइट' के तीसरे एपिसोड में तरुण जाधव ने कहा था कि यह मामाला एक राजनैतिक षडयंत्र है। गलियों में सवाल यह उठा कि यंग लीडर के खिलाफ राखी वाले भैया भला क्यों कोई षडयंत्र करने लगे। दोनों के बीच तो दूरी भी 482 किलोमीटर की है। तभी जग्गा जासूस ने बताया कि टंटे की जड़ क्या है। दोनों के बीच की दूरी 482 किलोमीटर की नहीं है बल्कि दोनों एक ही इलाके में हैं और असली रंजिश तो उस मोटी कमाई देने वाली प्रॉपर्टी को लेकर हो रही है, जिसके चारों तरफ कई राज्यों की बसें चक्कर लगातीं हैं। अब नया, बोले तो लेटेस्ट, एक दम पेटीपैक सवाल यह है कि यदि रंजिश पंप को लेकर है तो यंगलीडर इसका खुलासा क्यों नहीं कर रहा। 
गजब देखिए मियां, कैमरों से बचने के लिए लल्ला वीडियो बयान जारी कर रिए हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah