भारतीय सेना के खिलाफ FIR और रक्षामंत्री चुप, भाजपाई नाराज | NATIONAL NEWS

31 January 2018

नई दिल्‍ली। जम्मू-कश्मीर में अपने रास्ते जा रही भारतीय सेना की एक यूनिट पर 250 लोगों ने हमला किया। एक अधिकारी को घेर लिया। हथियार छीन लिए। 14 ट्रकों को नुक्सान पहुंचाया। एक वाहन तबाह कर दिया। बचाव में सेना ने फायरिंग की और 2 हमलावर मारे गए। इस मामले में पीडीपी-बीजेपी सरकार ने सेना की यूनिट के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज कर ली है और भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण चुप हैं। अब भाजपा के नेताओं का सब्र टूटने लगा है। भाजपा नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने बुधवार को सवाल उठाते हुए कहा कि यह घटना देशभक्ति के खिलाफ है। 

भाजपा की नीतियां देशभक्ति के खिलाफ हैं
स्‍वामी ने कहा कि अगर रक्षा मंत्री दो फरवरी तक अपना रुख स्‍पष्‍ट नहीं करती हैं तो वह इस मुद्दे को संसद में उठाएंगे। उन्‍होंने कहा, मैं हैरान हूं कि क्‍यों अब तक निर्मला सीतारमण ने कोई स्‍पष्‍टीकरण नहीं दिया। क्‍या हम उनकी चुप्‍पी को हां मानें। अगर ऐसा है तो फिर यह वास्‍तव में पार्टी की नीतियों, भारत के लोगों की भावनाओं और देशभक्ति के खिलाफ है। स्‍वामी ने आगे कहा, मैंने फैसला किया है कि अगर वह दो फरवरी की सुबह तक कोई स्‍पष्‍टीकरण नहीं देती हैं तो फिर मैं मुद्दे को संसद में उठाऊंगा।

गौरतलब है कि स्‍वामी का यह बयान शोपियां गोलीबारी में संलिप्‍त सैन्‍य इकाई के खिलाफ जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस द्वारा एफआइआर दर्ज किए जाने के बाद सामने आया है। रिपोर्टों के मुताबिक, जम्‍मू-कश्‍मीर मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने विधानसभा में यह भी कहा था कि उन्‍होंने निर्मला सीतारमण से इस मुद्दे पर चर्चा की है, जिन्‍होंने सेना द्वारा 'लापरवाही' बरतने के मामले में एफआइआर दर्ज करने को लेकर आगे बढ़ने को कहा।

इससे पहले मंगलवार को भी स्‍वामी ने सेना के खिलाफ एफआरइआर दर्ज करने को लेकर महबूबा मुफ्ती सरकार को लताड़ लगाई थी। उन्‍होंने कहा था, ये क्‍या मूर्खता है? खारिज करो सरकार को। महबूबा मुफ्ती से कहो कि एफआइआर वापस ले लें, अन्‍यथा उनकी सरकार गिरा दी जाएगी। यह भी सवाल उठाया था कि केंद्र सरकार क्‍यों नहीं जम्‍मू-कश्‍मीर में पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी से अपना गठबंधन तोड़ रही है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week