BU हॉस्टल में घुसी पुलिस, 80 छात्रों को घसीट घसीटकर पीटा | BHOPAL NEWS

Saturday, January 13, 2018

भोपाल। राजधानी की पुलिस पर बरकतउल्ला विश्वविद्यालय (BU) के JAWAHAR HOSTEL में रहने वाले छात्रों ने गंभीर आरोप लगाए हैं। बताया गया है कि ABVP नेता के फोन पर पुलिस बल हॉस्टल में घुस आया और कमरों में पढ़ रहे छात्रों को घसीटकर पहले तो बाहर निकाला फिर बेरहमी से पीटा। यहां छात्रों के 2 गुटों के बीच विवाद हुआ था परंतु पुलिस ने हॉस्टल में रहने वाले हर उस छात्र को पीटा जो हॉस्टल में मौजूद था। यहां तक कि छत पर मौजूद छात्र जिन्हे विवाद की जानकारी तक नहीं थी, को घसीटकर लाया गया और फिर पीटा। इस दौरान दो बीई फोर्थ ईयर के दो छात्र अमन गुप्ता व सत्यम सेनी को गंभीर चोटे आई है। इसके चलते इन्हें जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हॉस्टल वार्डन ने भी BE छात्रों के आरोप का समर्थन किया है। 

छात्रों ने आरोप लगाया है कि आपसी विवाद को लेकर शिकायत करने पर पुलिस ने शुक्रवार को BARKATULLAH UNIVERSITY कैंपस स्थित जवाहर हॉस्टल के 80 छात्रों को घसीट-घसीटकर पीटा। करीब 6 बजकर 45 मिनट पर अचानक पुलिस हॉस्टल में घुस आई और करीब 25 पुलिस कर्मियों ने छात्रों को छत में से घसीटकर और कमरों से निकालकर पहले तो बाहर खड़ा किया और इसके बाद पिटाई शुरू कर दी। इससे हॉस्टल के 5 छात्र घायल हुए। जिसमें से दो को गंभीर चोटे भी आई है। छात्रों ने पुलिस की इस बर्बरता पूर्ण रवैए पर विरोध दर्ज कराया है। वहीं दोषी पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग भी की है। छात्रों का आरोप है कि बीयू में कभी भी पुलिस कुलपति और रजिस्ट्रार के बिना परमीशन के घुस आती है और छात्रों के साथ मारपीट करती है, ऐसा नहीं होना चाहिए।

बैठक कर लिया जाएगा निर्णय
हॉस्टल वार्डन सुनील कुमार स्नेही ने बताया कि पुलिस ने छात्रों के साथ मारपीट की है। वहीं छात्रों ने इसका विरोध भी दर्ज कराया है। इस संबंध में शनिवार को बैठक आयोजित कर पुलिस के इस रवैए पर चर्चा की जाएगी। वहीं पुलिस को संस्थान में बिना परमीशन आने के चलते कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा।

7 छात्रों के खिलाफ मारपीट और बलवा का मामला किया दर्ज
बागसेवनियां थाने के टीआई ललित सिंह दांगूर ने बताया कि बीई तृतीय वर्ष के छात्र प्रकाश कुमार पटेल, शशिरंजन पटेल ने खेमराज, ललित मोहन तिवारी, सुमित शर्मा, पुष्पेंद्र ठाकुर, मधुकर राज, संजय जयसवाल, जितेंद्र गुर्जर सहित 7 लोगों पर मारपीट करने का मामला दर्ज कराया है। वहीं दूसरे गुट ने भी एफआईआर दर्ज कराई है।

इन पुलिस कर्मियों के नाम आए सामने
एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी का आरोप है कि हॉस्टल के छात्रों के साथ हेड कांस्टेबल मनोज कुमार सिंह, कांस्टेबल उपेंद्र सिंह, अशोक सिंह और बद्रीलाल दांगी ने मारपीट की है। जिसमें 5 से अधिक छात्र घायल हुए है। आरोप यह भी लगाया गया है कि एक गुट के छात्रों ने एबीवीपी के पदाधिकारियों से पुलिस को फोन करवाया। इसके बाद पुलिस ने इस मामले में शामिल न होने वाले छात्रों को भी बर्बरता से पिटाई की है। पुलिस ने तो आव देखा ना ताव सभी छात्रों को ताला तोड़कर, हॉस्टल में घुसकर, पढ़ाई करते हुए छात्रों को पीटा है। इतना ही नहीं छत से भी छात्रों को घसीटकर लाया गया और पहले तो ग्राउंड में एकत्रित किया और बाद में जमकर पिटाई की है।

------
मुझे सिर्फ इतनी जानकारी है कि दो गुटों में लड़ाई हुई थी। पुलिस ने बीच-बचाव किया है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ मामला भी दर्ज कराया है। बेहतर होगा आप टीआई से पूछे।
विजय पुंज, एसडीओपी, मिसरोद संभाग

-----
बिना कुलपति और रजिस्ट्रार की परमीशन के पुलिस कैसे घुस आई। छात्रों के साथ मारपीट भी की। यह गलत है। इस संबंध में कल कुलपति से मिलकर बातचीत की जाएगी।
सुनील कुमार स्नेही, वार्डन, जवाहर हॉस्टल, बीयू कैंपस

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week