इंदौर की सड़कों पर 6 घंटे तक आॅटो में लाश लेकर घूमते रहे, किसी ने नहीं रोका | CRIME NEWS

Thursday, January 4, 2018

इंदौर। केटरिंग व्यवसायी महिला की हत्या का पुलिस ने बुधवार को खुलासा करते हुए दो महिलाओं सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। हत्या का षड़यंत्र मेहंदी बनाने वाली एक महिला ने रचा था। हत्या आभूषण के लालच में की गई, जिसे लूटकर सराफा बाजार में 70 हजार रुपए में बेच दिया था। सीएसपी पारुल बेलापुरकर के मुताबिक सोमवार सुबह तेजाजीनगर थाना क्षेत्र स्थित ग्राम मुंडी में 60 वर्षीय दुर्गा (बीके सिधी कॉलोनी) का शव बोरे में पड़ा मिला था। महिला की गला दबाकर हत्या की गई थी। 

पुलिस ने मंगलवार देर रात राखी पति प्रकाश उर्फ लक्की सलूजा, भारती उर्फ लाजो उर्फ लाजवंती पति रमेश होतवानी, बाबू उर्फ योगेश पिता मनोहर गावड़े और मांगीलाल पिता महेश खालोटिया को गिरफ्तार किया। वारदात में शामिल एक अन्य आरोपी चंदर उर्फ चंदन चौहान की तलाश जारी है। सीएसपी के मुताबिक वारदात की मास्टर माइंट राखी ने दुर्गा के शरीर पर आभूषण देखकर 20 पहले ही षड़यंत्र रच लिया था। साजिश के तहत उसने दुर्गा को कॉल कर रविवार सुबह खाना बनाने के लिए अन्नपूर्णा नगर बुलाया।

राखी ने भारती उर्फ लाजो को भी सिंधी कॉलोनी की एक मिठाई की दुकान पर खड़ा कर दिया था। राखी ऑटो में दुर्गा को लेकर रवाना हुई और बहाने से मिठाई की दुकान पर रुक गई। दुर्गा ने लाजों को वहां देखा तो उससे कहा कि उससे कुछ काम है। वह भी ऑटो में बैठकर उनके साथ राखी के घर आ गई। राखी और भारती ने यह एहसास नहीं होने दिया कि दोनों पूर्व परिचित है। कुछ देर चर्चा के बाद राखी ने दुर्गा को नाश्ता परोसा। उसने कचोरी और चटनी में नशीली गोलियां मिलाकर रख दी। जैसे ही दुर्गा ने कचोरी खाई तो वह बेहोश होकर गिर गई। राखी ने चंदन, बाबू उर्फ योगेश और मांगीलाल को कॉल कर बुला लिया।

रस्सी से गला घोंटा, तकिए से मुंह दबाया
सूचना मिलते ही आरोपी राखी के घर पहुंच गए। लाजो उर्फ लाजवंती हॉल में बैठकर रेकी करने लगी। बाबू और राखी ने रस्सी का फंदा बनाकर दुर्गा का गला घोंट दिया। चंदन ने तकिए से मुंह दबा दिया। दम घुटने के बाद भी आरोपियों ने दुर्गाबाई के मुंह को चुनरी और दुपट्टे से कस कर बांध दिया।

उन्होंने सोने की चेन, टॉप्स, चुड़ियां निकाल ली। दोपहर करीब 1 बजे लाश को बोरे में भरकर मांगीलाल के ऑटो (एमपी 09आर 3853) में लेकर ठिकाने लगाने के लिए रवाना हो गए। चंदन बाइक से पेट्रोलिंग कर रहा था। आरोपी लाश ठिकाने लगाने के लिए पीथमपुर बायपास तक भटकते रहे। पहले लाश को सिलीकॉन सिटी के समीप एक कुएं में फैंकने लगे, लेकिन सफल नहीं हुए। वहां से शव को वापस ऑटो में रखा और तेजाजीनगर बायपास आ गए। सुनसान रास्ता देखकर शाम करीब 7 बजे बायपास पर लाश फैंक कर फरार हो गए।

ढाई लाख के आभूषण 70 हजार में बेचे
पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने करीब ढाई लाख रुपए कीमती आभूषण लूटे थे। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने आभूषण सराफा में 70 हजार रुपए में बेच दिए थे। पुलिस सुनार की भूमिका की जांच कर रही है। पुलिस ने चंदर की गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah