VIRAT KOHLI की ट्रिपल सेंचुरी रोकने श्रीलंका की टीम ने प्रदूषण का तमाशा बनाया | CRICKET NEWS

Sunday, December 3, 2017

फिरोज शाह कोटला टेस्ट के दूसरे दिन स्मॉग को लेकर श्रीलंका ने खिलाड़ियों ने बड़ा ड्रामा खड़ा कर दिया। मुंह पर मास्क लगाकर मैदान में उतरे और बार-बार स्मॉग के बहाने से मैच में बाधा डालते रहे। श्रीलंकाई खिलाड़ियों की इस साजिश की वजह से कप्तान विराट कोहली तिहरा शतक नहीं लगा पाए और झल्लाहट में अपना विकेट गवां दिए। हालांकि साजिश और ड्रामे के बावजूद श्रीलंकाई टीम की हालत खराब हो गई है। दरअसल टी के बाद जैसे ही लंका को लगा कि विराट तिहरे शतक की ओर बढ़ रहे हैं, ये टीम स्मॉग का बहाना बनाकर मैच रोकने लगी। पहली बार करीब 20 मिनट तक मैच रुका रहा। एक बल्लेबाज जो इससे क्रूज कर रहा था अब वो झल्ला रहा था। मुंह पर मास्क लगाकर मुंह चिढ़ा रही थी लंका की टीम माना कि स्मॉग था, काफी था। मगर यही स्मॉग अंपायरों के लिए भी था, भारतीय बल्लेबाजों के लिए भी। क्या श्रीलंका के खिलाड़ी ही जन्नत से उतरे थे जिन्हें हवा जहर लग रही थी। जले पर नमक था कभी कोच, कभी मैनेजर का मैदान पर आना।

तमाशा करती रही लंका की टीम

ये क्या मजाक चल रहा था। अगर लंका को नहीं खेलना था तो उसके कप्तान एकदम इनकार कर सकते थे। मगर ना तो वो इनकार कर रहे थे और ना ही इकरार। बीच-बीच में मैच रोक-रोक कर सिर्फ तकरार कर रहे थे। इन्हीं वारदातों ने विराट का विकेट लिया, उन्हें तीसरे शतक से महरुम किया।

क्या लंका भूल गया भारत के एहसान। 1996 वर्ल्ड कप में जब दुनिया ने श्रीलंका जाने से इनकार कर दिया था ये भारत की टीम थी जो उसके साथ खड़ी थी। जब दशकों तक लंका आतंकवाद से जूझ रहा था ये भारत की टीम थी जो हमेशा वहां के दौरे करती रही।

मैच में श्रीलंका टीम की हालत पतली

एहसान, वफा ही नहीं हया तक घोल कर पी गई है लंका की टीम. शायद हार का डर इस कदर घर कर गया है कि इसके कप्तान का दिमाग काम करना बंद कर चुका है. जब हद हो गई तब विराट ने पारी ही घोषित कर दी. उसके बाद लंकाई खिलाड़ियों के चेहरे खिल उठे. लेकिन उनकी खुशी चंद मिनटों तक ही चली. भारतीय गेंदबाजों ने जल्द ही इस खेमे में खौफ भर दिया. श्रीलंकाई टीम दो दिन का खेल होने तक पूरी तरह से मेजबानों के दबाव में दिखी. दूसरे दिन के खेल खत्म होने तक श्रीलंका ने 44.3 ओवरों में 3 विकेट के नुकसान पर 131 रन बना लिया था.

श्रीलंकाई क्रिकेटरों के इस रवैये पर भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने कहा कि मेहमान टीम के खिलाड़ियों का ध्यान शायद प्रदूषण पर था, मैच पर नहीं. दिन के दूसरे सत्र में श्रीलंका के तकरीबन पांच से ज्यादा खिलाड़ी मैदान पर प्रदूषण के कारण मास्क लगाकर उतरे थे. इस पर भरत ने कहा कि विराट ने तकरीबन दो दिन तक बल्लेबाजी की लेकिन उन्होंने मास्क नहीं पहना.

बार-बार मैच रुकने से कोहली का लय टूटा?

दिन के दूसरे सत्र में भारत जब पांच विकेट खोकर 509 रनों पर था तभी श्रीलंकाई गेंदबाज लाहिरू गमागे को परेशानी हुई और खेला रोका गया. इसी बीच श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने खराब वातावरण की शिकायत मैदानी अंपायरों से की. जिसके कारण तकरीबन 15 मिनट का खेल रुका. मैच दोबारा शुरू हुआ और आर अश्विन (4) का विकेट गिरा. इसी बीच कप्तान कोहली भी अपने टेस्ट करियर के सर्वश्रेष्ठ स्कोर 243 रनों पर लक्षण संदकाना की गेंद पगबाधा करार दे दिए गए.

श्रीलंकाई टीम की हरकत से हैरानी!
कोहली के जाने के बाद एक बार फिर खेल रुका 127वें ओवर में श्रीलंका के टीम मैनेजर असंका गुरुिसंहा मैदानी अंपायरों से कुछ शिकायत करने लगे, उनके जाने के बाद भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मैदान पर कदम रखा और मैदानी अंपायरों से बात की. पांच मिनट तक खेल रुकने के बाद मैच एक बार फिर शुरू हुआ लेकिन पांच गेंद बाद श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंडीमल ने 10 खिलाड़ी होने के कारण मैच रोक दिया और इसी बीच श्रीलंका टीम के कोच निक पोथास मैदान पर आकर अंपायरों से बात करने लगे. इसी बीच भारतीय ड्रेसिंग रूम से कोहली ने परेशान होकर पारी घोषित कर दी.  

रवि शास्त्री भी मैच रुकने से हैरान

उन्होंने कहा कि मैदान पर जो अंपायर होते हैं और मैच रेफरी होता है उसके लिए यह मुद्दा होता है. खिलाड़ियों का काम जाकर विरोध प्रदर्शन करना नहीं है. जब खेल बिना किसी कारण के रोका गया, तब हम चाहते थे कि मैच जारी रहे, क्योंकि हमारा ध्यान इस टेस्ट मैच पर है और हम इसे जीतना चाहते हैं. मैदान पर शास्त्री की अंपायरों से क्या बात हुई इस पर गेंदबाजी कोच ने कहा, रवि ने साफ तौर पर कहा था कि मैच को जारी रखें रोकें नहीं.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah