भीख मांगती मिलीं लंदन रिटर्न अकाउंटेंट और ग्रीन कार्ड होल्डर महिलाएं | NATIONAL NEWS

Wednesday, November 22, 2017

हैदराबाद। यहां एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। लंदन में अकाउंटेंट की जॉब करके लौटी एक महिला फरजाना जिसका बेटा अमेरिका में रहता है और करोड़ों की संपत्ति की मालकिन ग्रीन कार्ड होल्डर राबिया बसीरा दरगाह के बाद भीख मांगती हुई मिलीं। पुलिस ने दोनों को उनके परिजनों को सौंप दिया है। दोनों का कहना है कि ​वो मन की शांति के लिए भीख मांग रहीं थीं। फरजाना ने बताया कि एक बाबा ने कहा था कि मनोकामना पूर्ति के लिए भीख मांगो। 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप के हैदराबाद दौरे के बीच पुलिस व प्रशासन लगातार पॉश इलाकों से भिखारियों को हटाकर पुनर्वास केंद्रों में भेज रहा है। इस दौरान ही दो ऐसी महिलाओं को पुलिस भिखारी समझकर पुनर्वास केंद्र ले आई जो पढ़ी-लिखी होने के साथ ही संपन्न परिवारों से आती हैं। इसका खुलासा तब हुआ जब उन दोनों महिलाओं के मुंह से पुलिस अधिकारियों ने फर्राटेदार अंग्रेजी सुनी। इस बारे में जेल अधीक्षक के अर्जुन राव ने बताया कि हैदराबाद के लंगर हॉज दरगाह इलाके से 11 नवंबर को कुल 133 महिला भिखारियों को चेरालापल्ली जेल के आनंद आश्रम लाया गया था जबकि पुरुष भिखारियों को चंचलगुडा जेल पहुंचाया गया है।

जब इन सभी के बैकग्राउंड जानने की कोशिश की गई तो उन दोनों महिलाओं ने फर्राटेदार अंग्रेजी बोलना शुरू कर दिया। इसे देख-सुनकर सभी हैरान रह गए। जब उनके बारे में जानकारी निकाली गई तब पता चला कि दोनों काफी पढ़ी-लिखी हैं और संपन्न परिवारों से ताल्लुक रखती हैं। इनमें से एक का नाम फरजाना (50 वर्ष) है जबकि दूसरी महिला राबिया बसीरा हैं।

लंदन में कर चुकीं हैं अकाउंटेंट का काम
बिजनेस स्टडीज में पोस्ट ग्रेजुएट व लंदन में बतौर अकाउंटेंट काम कर चुकी फरजाना का बेटा अमेरिका में आर्किटेक्ट है। फरजाना का दावा है कि वो कुछ साल पहले भारत आई है। उसका हैदराबाद के पॉश इलाके आनंदबाग में अपार्टमेंट है और पति की मौत के बाद बीते कुछ वर्षों से वो मानसिक रूप से बीमार है। एक बाबा के कहने पर वह दरगाह में भीख मांग रही थी। पुलिस ने उसके बेटे से संपर्क किया तो वह अपनी मां की खोज में भारत आया हुआ था। पुलिस ने एफिडेविट भरवाकर महिला को उसके बेटे को सौंप दिया है।

ग्रीन कार्ड होल्डर निकली दूसरी महिला
वहीं, डिफेंस कॉलोनी की रहने वाली दूसरी महिला राबिया बसीरा जेल लाए जाने पर जेल अधिकारियों से ही लड़ पड़ी थी। राबिया का दावा है कि वह ग्रीन कार्ड होल्डर है और हैदराबाद में उसकी बड़ी जमीन-जायदाद है। उसके भाइयों ने उसे जमीन से बेदखल कर दिया और भाइयों से संपत्ति के लिए कानूनी लड़ाई लड़ते हुए अपना मानसिक संतुलन खो बैठी। वो भी दरगाह के बाहर मन की शांति के लिए भीख मांग रही थी। उसे भी उसके परिवार वालों से संपर्क कर पुलिस ने वापस भेज दिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah