बदलने वाला है क्रिकेट का बड़ा नियम और बल्ले का साइज भी

08 December 2016

मुंबई। क्रिकेट में भी अब खिलाड़ियों को रेड कार्ड दिखा कर मैदान से बाहर भेजा जा सकता है। साथ ही बल्लों के आकार के लिए सीमा भी तय की जा सकती है। यह दोनों बदलाव अगले साल से क्रिकेट में देखने को मिल सकते हैं। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) की विश्व क्रिकेट समिति ने सुझाव दिए हैं कि अंपायरों को खिलाड़ियों के बुरे व्यवहार के बाद उन्हें मैदान से बाहर भेजने का अधिकार होना चाहिए। एमसीसी की विश्व क्रिकेट समिति की बैठक मंगलवार और बुधवार को यहां हुई।

एमसीसी क्रिकेट के नियमों की संरक्षक संस्था है। अगर एमसीसी की मुख्य समिति इन बदलवों को मंजूरी दे देती है तो यह नए बदलाव खेल के सभी स्तरों पर एक अक्टूबर 2017 से लागू होंगे। सुझाए गए नए नियमों के मुताबिक अगर खिलाड़ी अंपायर को डराता है, दूसरे खिलाड़ी, दर्शक या अंपायर को शारीरिक हानि पहुंचाता है या हिंसा करता है तो अंपायर उसे मैदान से बाहर भेज सकता है।

एक अक्टूबर, 2017 से हो सकता है लागू
एमसीसी ने एक बयान जारी कर बताया है, "विश्व क्रिकेट समिति का मानना है कि मैच के दौरान होने वाले बुरे व्यवहार को लेकर खेल में अब नए बदलाव शामिल किए जाने चाहिए। अगर इन बदलावों को मान लिया जाता है तो एक अक्टूबर 2017 से खिलाड़ी को मैदान से बाहर भेजा जा सकेगा।" समिति ने मैदान पर कम बुरे व्यवहार लिए रनों की पेनाल्टी और सिन-बिन (कार्ड दिखाने के बाद खिलाड़ी को दंड स्वरूप मैदान से बाहर कुछ देर के लिए टीम से अलग बैठाने की प्रक्रिया) पर भी चर्चा की थी लेकिन उसका मानना है कि उसे ऐसे नियम खेल में नहीं जोड़ने चाहिए जिन्हें विश्व के अलग-अलग हिस्सों में लागू करने में दिक्कत हो।

बैट का आकार भी बदलेगा
एमसीसी की समिति ने बल्ले के आकार की सीमा भी निर्धारित करने की सिफारिश की है। उसका मानना है कि खेल अब मुख्यत: बल्लेबाजों के पक्ष में हो गया है। इसलिए उसका मानना है कि अब समय आ गया है जब बल्ले की चौड़ाई और लंबाई की सीमा तय की जाए।

क्या होगी नई साइज?
एमसीसी ने कहा है, "एमसीसी की मुख्य समिति से अब बल्ले की चौड़ाई को 40 मिलीमीटर और बल्ले की गहराई को 67 मिलीमीटर (60 मिलीमीटर गहराई के साथ सात मिलीमीटर मोड़) तक सीमित करने को कहा जाएगा। अगर इस सिफारिश को मंजूरी मिल जाती है तो नियम क्रिकेट के नए नियमों में शामिल हो जाएंगे और एक अक्टूबर 2017 से लागू किए जाएंगे।"

अनुराग ठाकुर भी रहे मौजूद
समिति बल्ले की लंबाई और चौड़ाई को लेकर एक सीमा तय करना चाहती है। एमसीसी की विश्व क्रिकेट समिति के अध्यक्ष इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक ब्रेयरली हैं। इस दो दिवसीय बैठक में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन भी शामिल हुए।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts