रेल विभाग का विसलब्लोअर पोर्टल लांच, घोटाले बताओ, नाम गोपनीय रखो | NATIONAL NEWS

Sunday, February 11, 2018

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने एक नई पहल की है। रेलवे ने शनिवार को एक वेबसाइट लॉन्च की, जहां उसके 13 लाख कर्मचारी बिना अपनी पहचान बताए सुरक्षा ऑपरेशंस और खतरों को लेकर आंतरिक खामियों की सूचना दे सकेंगे। इन सूचनाओं का इस्तेमाल खामियों को दूर करने और हादसों को रोकने में किया जाएगा। वेबसाइट के जरिए मिली सूचना का इस्तेमाल खतरे के बारे में रिपोर्ट करने वाले व्यक्ति के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए साक्ष्य के तौर पर नहीं होगा।

शिकायतकर्ता इस बात को लेकर स्वतंत्र है कि वह अपने बारे में जानकारी दे सकता है और नहीं भी। उसकी पहचान चीफ सेफ्टी ऑफिसर के पास सुरक्षित रहेगी। वेबसाइट के मुताबिक, 'इन डीटेल्स का इस्तेमाल अगर जरूरी हुआ तो केवल अतिरिक्त सूचनाएं जुटाने में होगा या बताए गए खतरे पर की गई कार्रवाई पर फीडबैक के लिए होगा।' ऐसी खामियों की सूचना देने वाला व्यक्ति स्टेटस या की गई कार्रवाई की जानकारी भी ले सकता है। 

शुक्रवार को रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने सभी कर्मचारियों को पत्र लिखकर असुरक्षित गतिविधियों के बारे में रिपोर्ट करने को कहा है। उन्होंने कहा कि जरूरत इस बात की है कि रेलवे अपने सिद्धांत 'सेफ्टी फर्स्ट' को कायम रखे। व्यवस्थित सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली से खतरों की पहचान कर ट्रेन ऑपरेशंस को सुरक्षित बनाया जा सकेगा। इससे हादसे को रोका जा सकेगा। लोहानी ने कहा है कि किसी भी अवैध गतिविधियों या मिसकंडक्ट के मामले में ही संबंधित व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week