साइबर क्राइम का शिकार हुए तो INSURANCE कंपनी भरेगी हर्जाना

Saturday, November 4, 2017

नई दिल्ली। साइबर क्राइम एक बड़ी समस्या हो गई है। कहीं दूर बैठा हैकर आपका बैंक अकाउंट खाली कर देता है। कभी आपके अकाउंट से शॉपिंग हो जाती है। फिर उपभोक्ता यहां वहां चक्कर लगाता है। वो हर हाल में अपने नुक्सान की भरपाई चाहता है परंतु सरकारी ऐजेंसियां कितनी मदद करतीं हैं सब जानते हैं। अब एक प्राइवेट बीमा पॉलिसी शुरू हुई है। इसके तहत यदि आप किसी भी तरह के साइबर क्राइम का शिकार हुए तो आपके नुक्सान की भरपाई बीमा कंपनी करेगी। 

यह साइबर सेफ पॉलिसी बजाज अलियांस जनरल इंशोरेंस ने पेश की है। इसके जरिये कंपनी निजी तौर पर इंटरनेट और ई-कॉमर्स का इस्तेमाल करने वाले लोगों को मदद पहुंचाना है। बताते चलें कि बिजनस के लिए साइबर लाएबिलिटी कवर कई वर्षों से बाजार में है।

मगर, अभी तक निजी रूप से अपने लिए कोई व्यक्ति इसे नहीं खरीद सकता था। बजाज अलियांस के मैनेजिंग डायरेक्काटर और सीईओ तपन सिंहल ने बताया कि यह अपनी तरह का पहला कवर है, जो ग्राहकों के लिए बढ़ते और बदलते खतरों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है।

कुछ दशक पहले तक जेब कट जाना सबसे बड़ा खतरा हुआ करता था। इस दौर में जेबकतरों के खिलाफ कवर देने वाली पॉलिसी कारगर नहीं होगी क्योंकि बड़ा खतरा साइबर क्राइम है। तपन ने कहा कि आज के डिजिटल दौर में काफी संख्या में डेटा स्टोर करने के साथ ही उसका आदान-प्रदान भी हो रहा है। इसके चलते साइबर खतरे भी बढ़ गए हैं।

पॉलिसी एक लाख से एक करोड़ रुपए तक का बीमा देगी, लेकिन इसके प्रीमियम के बारे में अभी तक कंपनी ने कोई जानकारी नहीं दी है। अधिकारियों ने बताया कि प्रीमियम इस आधार पर तय किया जाएगा कि कोई व्यक्ति कितना समय ऑनलाइन बिताता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week