पढ़िए वो बयान जो राहुल गांधी के GK पर सवाल उठाते हैं

Wednesday, September 13, 2017

नई दिल्ली। कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी को कुछ लोग इतने बेतुके ढंग से ट्रोल करते हैं कि एक वर्ग विशेष उन्हे इस ट्रोलिंग के कारण सपोर्ट कर जाता है। इन दिनों राहुल गांधी का अमेरिका वाला भाषण चर्चा में है। इस भाषण में राहुल गांधी ने ना केवल कांग्रेस की बड़ी गलतियां स्वीकार कीं हैं बल्कि 84 के दंगा पीड़ितों के साथ अपना समर्थन भी जाहिर किया है। इस बयानों से वो एक गंभीर और समझदार नेता की छवि बना रहे हैं परंतु जनरल नॉलेज वाले एक बयान में उन्होंने सब गुड़गोबर कर दिया। भाजपा अब इसी को पकड़कर बैठी है। सब किया धरा चौपट हो गया। 

राहुल गांधी ने अमेरिका में बर्कली यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में राहुल ने भारतीय संसद में लोकसभा के कुल सदस्यों की संख्या 546 बता डाली। इसके बाद से सोशल मीडिया पर उनकी खिंचाई शुरू हो गई। दरअसल, लोकसभा में कुल सदस्यों की संख्या 545 है। इसमें 543 सांसदों को जनता चुनती है और दो सदस्य (ऐंग्लो-इंडियन) मनोनित किए जाते हैं। ये पहली बार नहीं हुआ जब राहुूल गांधी के जनरल नॉलेज और कॉमन सेंस का मजाक बना हो। इससे पहले भी आधा दर्जन बार ऐसा ही हो चुका है। 

आलू की फैक्ट्री
यूपी के फिरोजाबाद में एक जनसभा के दौरान राहुल ने कहा था, 'आपलोग अपने इलाके में आलू फैक्ट्री की मांग कर रहे हैं, लेकिन आपको समझना चाहिए कि मैं विपक्ष का नेता हूं। मैं सरकार पर दबाव बना सकता हूं लेकिन फैसला नहीं ले सकता। मैं किसानों के लिए आलू की फैक्ट्री नहीं खोल सकता हूं।'

गलत महिला को गले लगाया
राहुल की वजह से गुजरात में कांग्रेस को किरकिरी झेलनी पड़ी थी। ऊना में राहुल को एक दलित महिला से मिलना था, जिसकी गोरक्षकों ने कथित रूप से नंगा कर बुरी तरह पिटाई की थी। जब राहुल वहां पहुंचे तो पीड़ित महिला को गले लगाने के बजाय उसके किसी रिश्तेदार को गले लगा लिया। उस महिला पर उगाही और दंगे सहित कई मामले दर्ज थे।

स्टीव जॉब्स को माइक्रोसॉफ्ट का बताया
मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल ने छात्रों से कहा, 'एक दिन आप लोग इस देश को चलाएंगे। आप में से कुछ किसी संस्था की अगुवाई करेंगे। आपलोग माइक्रोसॉफ्ट में स्टीव जॉब्स होंगे और देश में फेसबुक के लीडर बनेंगे।'

वेणुगोपाल को मैडम स्पीकर कहा
लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण का जवाब देते हुए राहुल ने लोकसभा के चेयरमैन पी वेणुगोपाल को 'मैडम स्पीकर' बता डाला। जल्द ही उन्हें अपनी गलती का अहसास हुआ और माफी मांग ली।

गांधी का नाम नहीं जोड़ा
सदन में एनडीए सरकार को मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) पर घेरते हुए राहुल नरेगा बोल गए। इसमें महात्मा गांधी का नाम गायब था। जब राहुल गांधी ने अपनी गलती सुधारी तो ट्रेजरी बेंच के कुछ सदस्य जोर से चिल्लाए, 'भूल गया, भूल गया...'।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week