ना BJP को इतराने का मौका मिला, ना कांग्रेस को जश्न का: MPMC चुनाव परिणाम

Wednesday, August 16, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश में हुए नगरीय निकाय चुनावों में इस बार जो परिणाम आए हैं उनके अनुसार पार्टियों के नेता अपनी अपनी सीट पर चाहे कुछ भी समीक्षा कर लें लेकिन ओवरआल जो परिणाम आए हैं उसने ना तो भाजपा को इतराने का मौका दिया और ना ही कांग्रेस को जश्न मनाने का। कुल 43 सीटों में से 26 भाजपा को मिलीं और 14 कांग्रेस को। अब ना तो भाजपा कह सकती है कि शिवराज सिंह का जादू चल गया और ना ही कांग्रेस कह सकती है कि मप्र में शिवराज विरोधी लहर है। इन नतीजों ने बस एक संदेश दिया है कि सावधान, जो जनता के हित की बात करेगा वही मप्र पर राज करेगा। 

बीजेपी को कहां कहां मिली जीत 
1. आलीराजपुर जिले के चंद्रशेखर आजाद नगर से निर्मला डावर।
2. सतना के जैतवार से राम बहादुर धोहर।
3. झाबुआ के राणापुर से सुनीता।
4. झाबुआ के थांदला से बंटी सोहन नाना।
5. शहडोल के बुढार से कैलाश विश्वानी।
6. झाबुआ के पेटलावद से मनोहर भटेवरा।
7. शहडोल से उर्मिला रानी जीतीं।
8. डिंडोरी से पंकज सिंह तोमर।
9. बुरहानुपर के नेपानगर से राजेश चौहान।
10. अनूपपुर के कोतमा से मोहनी धमेंद्र वर्मा।
11. बैतूल के चिचोली से संतोष मालवीय।
12. खंडवा के छनेरा से पुष्पाबाई रामनिवास पटेल।
13. खरगोन के मंडलेश्वर से मनीषा मनोज शर्मा।
14. शहडोल के जयसिंहनगर से अशोक भारतीय।
15. ग्वालियर के डबरा से आरती मौर्य।

कांग्रेस के खाते में कितने नगरीय निकाय 
1. छिंदवाडा़ के मोहगांव हवेली से सपना कलम्बे।
2. खरगोन के सनावद से मंजुषा नरेंद्र शर्मा।
3. खरगोन के महेश्वर से हेमंत जैन।
4. डिंडौरी के शहपुरा से राजेश गुप्ता।
5. छिंदवाडा के सौंसर से लक्ष्मण चाके।
6. छिंदवाड़ा के जुन्नारदेव से पुष्पा साहू।
7. झाबुआ नगर पालिका परिषद से मन्नू डोडिया।

आठ लाख वोटर्स ने डाले थे वोट
 राज्य निर्वाचन आयुक्त आर. परशुराम ने बताया कि नगरीय निकायों के मुख्यालय में मतगणना की गई। इस दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। 11 अगस्त को हुए मतदान में लगभग आठ लाख वोटर्स ने अपने वोट का इस्तेमाल किया था। अध्यक्ष पद के लिए 161 और पार्षद पद के 2,133 उम्मीदवार मैदान में थे, जिनके भाग्य का फैसला बुधवार को हुआ।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं