यूपी में 50+ वाले कर्मचारियों को हटाने की कार्रवाई शुरू

Sunday, July 30, 2017

लखनऊ। योगी सरकार ने 50 साल से ऊपर व अच्छा काम न करने वाले कर्मचारियों को चिन्हित कर छंटनी का आदेश दिया था। इसी के तहत अब 50 साल पूरे कर चुके और काम में अक्षम एलडीए कर्मचारियों की छंटनी की कवायद शुरू हो गयी है। इसके लिए एलडीए सचिव जयशंकर दुबे की अध्यक्षता में चार सदस्यीय कमेटी बना दी गयी है। कार्मिक विभाग के शासनादेश जारी करने के बाद प्राधिकरण ने छंटनी की कवायद शुरू कर दी है। एलडीए उन कर्मचारियों को भी चिन्हित कर छंटनी करेगा, जो आवंटियों को परेशान करते हैं। फाइलें दबाने वाले बाबुओं पर भी अफसरों की नजर है। सचिव जयशंकर दुबे ने बताया कि, ''उनकी अध्यक्षता में कमेटी बनाई गयी है। इसमें वित्त नियंत्रक राजीव कुमार सिंह के अलावा संयुक्त सचिव व अधीक्षण अभियंता भी शामिल हैं। यही चार सदस्यीय कमेटी कर्मचारियों, उनकी ओर से किए जा रहे कामों का परीक्षण कर उनकी सूची तैयार करेगी। इसके बाद इसकी रिपोर्ट उपाध्यक्ष को भेजी जाएगी। उपाध्यक्ष कर्मचारियों की सेवा समाप्त करने पर निर्णय लेंगे।

तीन महीने का दिया जाएगा नोटिस
जानकारी के मुताबिक, ऐसे कर्मचारियों और अफसरों की लिस्ट तैयार करने के बाद उन्हें नोटिस जारी किया जाएगा। नोटिस में रिटायरमेंट का कोई कारण नहीं बताया जाएगा। तीन महीने का नोटिस पीरियड रहेगा। इसके बाद ऐसे अफसरों को रिलीव कर दिया जाएगा।

अंग्रजी पढ़ने लिखने में भी दिक्कत, दूसरे से लिखाते हैं नोट
एलडीए में करीब डेढ़ सौ से ज्यादा बाबू ऐसे हैं जो फाइलों में खुद नोटिंग नहीं कर पाते हैं। वह दूसरे बाबुओं से नोटिंग लिखवाते हैं। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी व सफाई कर्मी से प्रोन्नति पाने वाले कई कर्मचारी ऐसे हैं जो लिखना कुछ होता है और फाइलों में कुछ लिख जाते हैं। अब इनकी भी छंटनी होगी। एलडीए में एक बड़े बाबू ऐसे हैं जो कई महत्वपूर्ण योजनाओं का काम देख रहे हैं। लेकिन उन्हें अंग्रेजी पढ़ना लिखना नहीं आता है। अंग्रेजी में कोई पत्र हो या किसी अधिकारी की अंग्रेजी में लिखी नोटिंग। कुछ नहीं पढ़ पाते हैं।

कंप्यूटर पर काम करना भी मुश्किल
एलडीए ने कर्मचारियों को कम्प्यूटर सीखने के कई मौके दिए। इसे सीखने के लिए ट्रेनिंग भी दिलायी गयी। इसके बावजूद 70 प्रतिशत कर्मचारी ऐसे हैं जिन्हें कंप्यूटर के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वह कम्प्यूटर पर कोई काम ही नहीं कर सकते हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week