BHOPAL: सांसद और विधायकों ने खोली बिजली कंपनी में भ्रष्टाचार की पोल

Saturday, June 3, 2017

भोपाल। बिजली कंपनी में निचले स्तर में भारी भ्रष्टाचार हो रहा है। इन्हें तो बस पांच हजार रुपए दो और कोई भी काम करा लो। विभाग के असिस्टेंट इंजीनियर से भी ज्यादा पावरफुल तो ये लाइनमैन होते है, जो निचले स्तर पर काम करते है। यह आरोप विद्युत सलाहकारों की जिला स्तरीय बैठक में हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा और बैरसिया विधायक विष्णु खत्री ने लगाए।

विधायकों की बात सुनकर सांसद आलोक संजर भी भड़क गए। जब नजीराबाद का मामला सामने आया तो सांसद ने कहा कि उन्होंने गांव में डीपी लगाने की अनुशंसा की थी, लेकिन जेई ने निजी व्यक्ति के खेत में डीपी रख दी। इसकी जानकारी मिलने पर उन्होंने खुद गांव का दौरा किया था। इसके बाद जेई पर कार्रवाई करने की बात कही थी, लेकिन अभी तक उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस पर विद्युत कंपनी के अधिकारियों ने तत्काल नजीराबाद के जेई खान को सस्पेंड कर दिया।

उधर, विधायक खत्री ने कहा कि बिजली के तार चोरी हो जाते है, इसमें भी लाइनमैन की भूमिका अहम होती है। इस बात का समर्थन हुजूर विधायक ने किया। उन्होंने कहा कि गत दिनों लाइनमैन ने पैसे लेकर बरखेड़ा नाथू को रोशन कर दिया और मुगलिया छाप में अंधेरा हो गया। उन्होंने विभाग के अफसरों से कहा कि इनके खिलाफ एफआईआर कराए, जब डंडे पड़ेंगे तो सब बोल देंगे।

जहां बिजली नहीं, वहां पहुंचेगी
दीनदयाल योजना में जहां 20 घर होंगे, वहां योजना का लाभ दिया जाएगा। एक घर में 5 लोग माने गए हैं। 100 लोगों की संख्या पर बिजली की सुविधा प्रदान की जाएगी, क्योंकि आज भी शहर के रातीबड़, नीलबड़ की तरफ कई ऐसी कॉलोनियां बस गई हैं, जहां बिजली ही नहीं पहुंची है।

गांवों में लगे खंभे गिर चुके है सभी
जिला पंचायत अध्यक्ष मनमोहन नागर ने कहा कि अटल ज्योति के दौरान जो खंभे लगाए गए थे, वे गिर चुके हैं और उनके तार चोरी हो गए। इससे क्या फायदा? उन्होंने कहा अब जो भी काम करें, वो पूरी प्लानिंग से करें। क्योंकि ये कोई एक दो गांव का मामला नहीं, बल्कि 450 गांवों का मामला है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week