2000 किसानों के खिलाफ FIR, कांग्रेस हाईकोर्ट में देगी फर्जी मामलों को चुनौती

Wednesday, June 7, 2017

भोपाल। कांग्रेस सांसद, अभा कांग्रेस कमेटी के विधि विभाग के अध्यक्ष एवं प्रसिद्ध एडवोकेट श्री विवेक तन्खा ने आज किसान आंदोलन के दौरान पुलिस कार्रवाई का शिकार हुए किसानों के केस लड़ने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान जितने भी किसानों के खिलाफ मप्र पुलिस ने आपराधिक मामले दर्ज किए हैं, उन सभी किसानों के केस कांग्रेस पार्टी लड़ेगी और किसानों को न्याय दिलाएगी। श्री तन्खा ने बताया कि अकेले रतलाम में 450 किसानों के खिलाफ झूठे प्रकरण दर्ज कर 160 किसानों को गिरफ्तार किया जा चुका है। सूत्र बताते हैं कि रतलाम, नीमच एवं मंदसौर में कुल 2000 से ज्यादा किसानों के खिलाफ मामले दर्ज हो चुके हैं। यह सिलसिला लगातार जारी है। 

मप्र कांग्रेस की ओर से जारी एक अन्य प्रेस बयान में कांग्रेस ने मंदसौर कलेक्टर स्वतंत्रकुमार सिंह के उस बयान पर तीखा आक्रोश जताया है जिसमे उन्होंने गोलीचालन एवं किसी भी तरह के बल प्रयोग से इनकार किया है। कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने कहा कि यदि बालाघाट में थाने का घेराव करने वाले आरएसएस कार्यकर्ताओं की मांग पर एडिशनल एसपी और टीआई के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है तो फिर मंदसौर में थाना घेर रहे किसानों पर गोलियां क्यों चलाई गईं और कलेक्टर/एसपी के खिलाफ धारा-302 (34) के तहत हत्या का अपराधिक प्रकरण क्यों दर्ज नहीं किया जा रहा। 

कांग्रेस ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान, केबिनेट मंत्रियों सर्वश्री जयंत मलैया, गौरी शंकर बिसेन की टिप्पणियों को आपत्तिजनक एवं भड़काऊ बताते हुए कहा कि अपने कृत्यों से परे समूचा दोष कांग्रेस पर डालना भाजपा की मान्य राजनैतक परम्परा बन चुकी है। यदि प्रदेश के किसानों के दर्द और बहते हुए आंसुओं को लेकर उन्हें सहयोग करना गुनाह है, तो कांग्रेस ऐसे गुनाह परिणामों की चिंता किये बगैर बार-बार करेगी। 
कांग्रेस ने किसान नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष डीपी धाकड़ के विरुद्ध राजनैतिक प्रतिषोध की भावना से दर्ज कराये गये विभिन्न आपराधिक प्रकरणों, उन्हें फरार और उनकी गिरफ्तारी पर 10,000 हजार रु. का ईनाम घोषित किये जाने की भी भर्त्सना करते हुए कहा कि इसतरह का प्रतिशोध जायज नहीं है । समूची पार्टी श्री धाकड़ के साथ खड़ी हुई है ।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं