एमपी बोर्ड के BEST OF 5 फार्मूला से HS/HSS के परीक्षा परिणाम गलत आएंगे | EXAM RESULT

Sunday, April 16, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल द्वारा इस वर्ष कक्षा 9 एवं 10 में सतत और व्यापक मूल्यांकन को प्रदेश के सभी HS/HSS में लागू करने के लिए आदेश क्र एफ-44-19/2016/20-2 दिनाँक 26-8-16 द्वारा निर्देश जारी किये गए हैं लेकिन इस आदेश में गंभीर विसंगति है। प्रदेश के उत्कृष्ट विद्यालयों में यह व्यवस्था पिछले वर्ष से ही संचालित है। पिछले साल तक इसमें best of six अर्थात उच्चतम प्राप्तांक वाले 6 विषयों के आधार पर परिणाम बनाया जाता था और इन 6 विषयों के 80% अंक यानि 480 अंक और CCE के 20% अंक यानि 120 अंक इस प्रकार कुल 600 अंक होते थे ।
CCE के 20% अंक निकालने का जो फॉर्मूला आदेश में दिया गया है वो इस प्रकार है-
प्राप्तांक ×3 ÷25

इस वर्ष से best of six के स्थान पर best of five विषयों के आधार पर परिणाम बनाने हेतु आदेशित किया गया है जिससे यह फॉर्मूला त्रुटिपूर्ण हो गया है।

Best of five की स्थिति में -
5 विषयों के 80% अंक 400 होते हैं और यदि इसमें उपरोक्त फॉर्मूले से निकाले गए CCE के 120 अंक जोड़ दिए जाएं तो योग 520 हो जाता है, जो पूर्णांक 500 से भी ज्यादा है। 

इस प्रकार यह फॉर्मूला 6 विषयों के लिए तो सही है किन्तु 5 विषयों के लिए नहीं। इस विसंगति के कारण प्रदेश के सभी स्कूलों में भ्रम तो फ़ैल ही रहा है साथ ही गलत परिणाम बनने की भी आशंका उतपन्न हो गई है। इस त्रुटि का कारण यह है कि यह फॉर्मूला 6 विषय के आधार पर CCE के 20% अंक निकालता है। 

जबकि अब 5 विषयों के आधार पर सही फॉर्मूला इस प्रकार होना चाहिए-
प्राप्तांक × 3 ÷30
इस फॉर्मूले से छात्र को CCE के अधिकतम 100 अंक हासिल होंगे और 5 विषयों के 80% अंक यानि 400 जोड़कर उसे पूर्णांक 500 में से 500 अंक मिल सकेंगे, इससे ज्यादा नहीं।
यह जानकारी एक जागरुक शिक्षक ने भोपाल समाचार डॉट कॉम को ईमेल की। बिना संपादन के शब्दश: प्रकाशित की गई है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं