अब पशुओं की आॅनलाइन खरीद बिक्री कीजिए, सरकारी शॉपिंग साइट लांच - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

अब पशुओं की आॅनलाइन खरीद बिक्री कीजिए, सरकारी शॉपिंग साइट लांच

Saturday, November 26, 2016

;
नईदिल्ली। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने आज नई दिल्ली में राष्‍ट्रीय दुग्‍ध दिवस के अवसर पर ई-पशु हाट (www.pashuhaat.gov.in) पोर्टल को लॉन्च किया। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा देश मे पहली बार राष्ट्रीय बोवाइन उत्पादकता मिशन के अंतर्गत ई पशुधन हाट पोर्टल स्थापित किया गया है। यह पोर्टल देशी नस्लों के लिए प्रजनकों और किसानों को जोड़ने मे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस पोर्टल के द्वारा किसानो को देशी नस्लों की नस्ल वार सूचना प्राप्त होगी। इससे किसान एवं प्रजनक देशी नस्ल की गाय एवं भैंसो को खरीद एवं बेच सकेंगे। देश मे उपलब्ध जर्मप्लाज्म की सारी सूचना पोर्टल पर अपलोड कर दी गयी है। जिससे किसान इसका तुरंत लाभ उठा सके। इस तरह का पोर्टल विकसित डेयरी देशों मे भी उपलब्ध नहीं है। इस पोर्टल के द्वारा देशी नस्लों के संरक्षण एवं संवर्धन को एक नई दिशा मिलेगी।

पशु व्‍यापार बाजार से संबंधित कमियां
कोई प्रमाणिक संगठित बाजार नहीं।
उच्‍च आनुवांशिक गुणता वाले रोगमुक्‍त जर्मप्‍लाज्‍म को प्राप्‍त करना मुशिकल।
अन्‍य कुप्रथाओं में पशुओं को दुध का उत्‍पादन बढाने के लिए विशेष आहार देना, उनके सींग हटाना तथा आयु के बारे में गलत जानकारी देने के लिए दांतों को भरना शामिल है।

ई-पशु हाट का उद्देश्‍य और लक्ष्‍य
पशुधन जर्मप्‍लाजम के लिए ई-व्‍यापार बाजार पोर्टल
किसानों को प्रजनकों के साथ जोड़ेगा।
जर्मप्‍लाज्‍म की उपलब्‍धता के बारे में वास्‍तविक समय में प्रमाणिक सूचना।

पोर्टल का ब्‍यौरा
किसानों को उन सभी स्रोतों के बारे में जानकारी देगा जहां हिमित वीर्य, भ्रूण तथा जीवित पशु, पशुधन प्रमाणन के साथ उपलब्‍ध है।
किसानों को देश के 56 वीर्य केंद्रों (20 राज्‍यों), 4 सीएचआरएस (4 राज्‍य तथा 7 सीसीबीएफ (6 राज्‍य) के साथ जोड़ेगा तथा “किसान से किसान तक” तथा “किसान से संस्‍थान तक” संपर्क स्‍थापित करेगा।

किसानों के लिए
बोवाईन प्रजनकों, विक्रेताओं तथा खरीददारों के लिए वन स्‍टाप पोर्टल
ज्ञात आनुवांशिक गुणता के साथ रोगमुक्‍त जर्मप्‍लाज्‍म की उपलब्‍धता
बिचौलिए की भागीदारी को कम से कम करना।
नकुल स्‍वास्‍थ्‍य पत्र से केवल टैंग किए गए पशुओं की बिक्री।
देश में विविध देशी बोवाईन नस्‍लों का परिरक्षण।
किसानों की आय में वृद्धि।
वैब पोर्टल को खोलने पर किसान जीवित पशु, वीर्य तथा भ्रूण के विकल्‍प को चुन सकता है, ब्‍यौरे की तुलना कर सकता है, पूरी सूचना दे सकता है तथा अपनी स्‍थान पर पशु की डिलीवरी लेने के लिए आनलाइन पैसा अदा कर सकता है।
वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें 
;

No comments:

Popular News This Week