मोदी ने देश में आर्थिक आपातकाल लगा दिया: दिग्विजय सिंह - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

मोदी ने देश में आर्थिक आपातकाल लगा दिया: दिग्विजय सिंह

Sunday, November 13, 2016

;
जबलपुर। कालाधन तो विदेशी बैंकों में, रियल एस्टेट या गोल्ड के रूप में मौजूद है। मोदी के इस कदम से कालाधन को कोई फर्क नहीं पड़ा। आम आदमी परेशान हो गया। मोदी ने जान बूझकर देश में आर्थिक आपातकाल लगा दिया। ये बात कांग्रेस नेता पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए व्यक्त किए। 

श्री सिंह ने कहा कि जिनके पास कालाधन है, उन्हें काेई असर नहीं हो रहा है। गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार जिन्हाेंने अपनी बचत से धन जमा किया है, वे परेशानी के दौर से गुजर रहे हैं। मजदूरी करने वाले रोजाना 2 से 4 सौ रुपये कमाने वाले हफ्ते में मजदूरी पाते हैं, उनके पास 5 सौ व 1 हजार के नोट हैं, वे चाय पीने मोहताज हैं। उन्होंने कहा कि देश में कालाधन रियल इस्टेट, सोने-चांदी के जेवरात और विदेश में है, वहां सरकार की नजर नहीं है।

आतंकवाद से समझौता नहीं
आतंकवाद के मुद्दे पर श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने कभी आतंकवाद से समझौता नहीं किया है। आतंकवाद से लड़ने में सबसे ज्यादा कांग्रेस पार्टी ने खाेया है। उनका कहना था कि भाजपा के राज में आतंकवादी अजहर मसूद को समझौता कर पाकिस्तान छोड़ा जाता है, महिपपुर में सिमी आतंकियों को छुड़ाया जाता है।

भोपाल एनकांउटर फर्जी
श्री सिंह ने कहा कि जेल में बंद सिमी आतंकवादियों के भागने के मामले में सरकार द्वारा बयान दिये जा रहे हैं कि टूथ ब्रश की चाबी बनाकर ताले खाेले गए हैं। ब्रश से बनी चाबी से आईएसओ जेल के ताले खुलने की बात गले नहीं उतर रही है। सिमी आतंकवादियों का एनकाउंटर फर्जी तरीके से किया गया है, जांच में हकीकत सामने आ जाएगी।

रामदेव सबसे बड़ा ठग
श्री सिंह ने कहा कि रामदेव बाबा नहीं व्यापारी है, वह देश का सबसे बड़ा ठग है। उन्होंने इस बात को नकारते हुए कहा कि रामदेव के कहने पर बड़े नोटों का चलन बंद नहीं किया गया है, अगर ऐसा होता तो दो हजार का नोट चलन में नहीं आता। ( पढ़ते रहिए bhopal samachar हमें ट्विटर और फ़ेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)
;

No comments:

Popular News This Week