पाकिस्तानी सेना की वर्दी में बॉर्डर पर घूम रहे हैं आतंकवादी

Tuesday, October 11, 2016

नईदिल्ली। अब पाकिस्तानी सरकार ने 'लश्कर-ए तैयबा' के आतंकवादियों को भारतीय फौज के हमलों से बचाने के लिए पाकिस्तानी सेना की वर्दी पहना दी है। वो खुलेआम बॉर्डर पर हथियार लहराते हुए घूम रहे हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों को दहशतगर्दों की कॉल इंटरसेप्ट से यह जानकारी मिली है।

हमले की फिराक में
सूत्रों के मुताबिक, आतंकी भारत में बड़े हमले की फिराक में हैं, लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से उनमें दहशत है। इसीलिए सीमा पार आतंकियों के लॉन्चिंग पैड को पाक रेंजर्स का ठिकाना साबित करने के लिए आतंकियों को सेना की वर्दी पहना दी गई है। उन्हें ठिकाने बदलते रहने को भी कहा गया है। खुफिया एजेंसियों के इस अलर्ट के बाद बीएसएफ अधिक सतर्कता बरत रही है।

कमांडर साजिद दे रहा है निर्देश 
पाकिस्तान में बैठा लश्कर कमांडर साजिद नोमी आतंकियों को निर्देश दे रहा है। नोमी के कॉल इंटरसेप्ट से पता चला है कि वह लगातार घुसपैठ के लिए योजनाएं बना रहा है। उसे हाफिज सईद का करीबी माना जाता है।

अबू दुजाना कर रहा है नेतृत्व 
यह भी खबर है कि कश्मीर घाटी में मौजूद लश्कर कमांडर अबू दुजाना पाक वर्दी में मौजूद आतंकियों के समूह का नेतृत्व कर रहा है। भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक में सबसे ज्यादा नुकसान लश्कर को ही हुआ था। उसके करीब 20 आतंकी मारे गए थे।

तीन समूह बनाए
लश्कर के आतंकियों ने कश्मीर में हमला करने के लिए तीन समूह बनाए हैं। एक समूह की कमान फातिमा नाम की महिला को दी गई है। दूसरे को अबू उसामा संभाल रहा है, जबकि तीसरे समूह का नेतृत्व लश्कर आतंकी हम्माद कर रहा है। इन सभी को सुरक्षा बलों और सेना के अलावा महत्वपूर्ण स्थानों को निशाना बनाने की जिम्मेदारी दी गई है।

कश्मीर में इस समय 250 आतंकी
घाटी में करीब 250 आतंकियों की मौजूदगी हो सकती है। इनमें से आधे स्थानीय हैं, जिनकी भर्ती लश्कर और जैश कमांडरों के इशारे पर की गई है। घाटी में घरों से गायब हुए युवकों के भी इन समूहों में शामिल होने की आशंका जाहिर की जा रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week