नवरात्रि से दीपावली तक कछुओं की मदद से नोटों की बारिश कराते हैं तांत्रिक - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

नवरात्रि से दीपावली तक कछुओं की मदद से नोटों की बारिश कराते हैं तांत्रिक

Sunday, October 2, 2016

;
आनंद ताम्रकार/बालाघाट। जिले में इन दिनों जलचर प्राणी कछुओं की तस्कारी हो रही है प्राकृतिक सम्पदा एवं जलस्त्रोतों की उपलब्धता के चलते कछुओं की भारी मात्रा आई जाती है जिसके कारण इनकी तस्कारी लम्बे अरसे से की जा रही है। 

इस सिलसिले में वन विभाग द्वारा कछुओं की तस्करी के मामले में पकडे गये दो कछुआ तस्करों ने जो जानकारी सहायक वन संरक्षक कान्हा राष्ट्रीय उधान सुधीर मिश्रा को दी है, वह चौकाने वाली है। जिसके अनुसार नवरात्रि से दीपावली के बीच तंत्र साधना के लिये कछुओं की मांग काफी बड़ जाती है। समान्यता 1000 से 1200 रूपये में बिकने वाले कछुआ इन दिनों 2 से 4 लाख रूपये में बेचे जा रहे है।

पुलिस के हाथ लगे दोनों तस्कर खैरलांजी ग्राम भेण्डारा निवासी रविन्द्र अटराहे तथा रामपायली के थानेगांव निवासी  राजेश अटराहे के मण्डला, सिवनी,छिदंवाडा, महाराष्ट, छत्तीसगढ तथा पश्चिमबंगाल और उडीसा के कछुओं के खरीददारों से जुडे है। इनके द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार तांत्रिकगण 20 नग नाखून वाले कछुओं से साधना के जरिये नोटों की बारिश कराने का दावा करते है। उन्होने यह जानकारी भी दी है की तंत्र विध्या करने वाले नरम कवच वाले कछुओं की ज्यादा मांग करते है तथा नरम एवं कडे कवच के हिसाब से कछुओं की कीमत तय होती है।
20 नाखून वाले नरम कवच के कछुओं की तंत्र साधना में भारी मांग होने से इसकी मुहमांगी कीमत मिल जाती है और यह लाखों में होती है। बताया गया है कि कछुओं से की जाने वाली इस तांत्रिक सांधना जो सुनसान स्थानों पर की जाती है कछुए की पीठ में जितनी राशि का नोट रखा जायेगा उसी राशि के नोटों की बरसात होने का तांत्रिक दावा करते है। 

सहायक वनसरंक्षक सुधीर मिश्रा के अनुसार तस्करों ने बताया की तांत्रिक ने 20 तथा 18 नग वाले कछुओं के माध्यम से तंत्र साधना कर 14 करोड रूपये की नोटो की बारिश करवाई थी। इस तंत्र साधना में कछुओं का वजन भी मायने रखता है। 20 नाखून वाले कछुए का वजन 250 ग्राम से अधिक नही होना चाहिये, 12 नग वाला कछुआ 2.5 किलो होना चाहिये, 8 नग वालो कछुआ 4.5 किलोग्राम का होना चाहिये।

यह उल्लेखनीय है की कम वजन के कछुए अनेक लोग तंत्रमंत्र के लिये अपने घरों में पालते है। श्री सुधीर मिश्रा ने यह अवगत कराया की बालाघाट में कछुओ की तस्करी और इसके माध्यम से नोटों की बारिश करने की जानकारी प्राप्त हुई थी। मैने अपनी टीम के 12 सदस्यों में एक को तांत्रिक बनाकर तस्करों के पास पहुचाया था। इन तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा ओर तस्करों की गिरफ्तारी शीध्र की जायेगी।
;

No comments:

Popular News This Week