रसूखदारों को मात्र 8 महीने में 45 खदानें दे गए पन्ना कलेक्टर शिवनाराण सिंह चौहान - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

रसूखदारों को मात्र 8 महीने में 45 खदानें दे गए पन्ना कलेक्टर शिवनाराण सिंह चौहान

Monday, October 24, 2016

;
पन्ना। देश के हृदय प्रदेश का मुकुट कहलाने वाली विंध्य की पर्वत श्रृंखलाओं के पहाड़ों का अस्तित्व अब खतरे में आ गया है। यहां खदानों की थोकबंद लीज स्वीकृत हुई हैं। अब खजिन संपदा को अंधाधुंध दोहन होगा और पर्यावरण का विनाश किया जाएगा। इसका सीध दुष्प्रभाव जल-जंगल, जानवर, जमीन पर पड़ना तय है। इससे इंसान भी अछूते नहीं रह सकते है। 

पन्ना के पहाड़ों की बर्बादी की इबारत माह जनवरी से अगस्त 2016 के मध्य अर्थात पिछले 8 महीने में लिखी गई है। बुन्देलखण्ड के रियल हीरो कथित उपाधि पाकर खबरों में आये तत्कालीन कलेक्टर शिवनारायण सिंह चौहान द्वारा पन्ना में अपने सवा साल से कम के कार्यकाल के दौरान सिर्फ 8 महीने में फर्शी-पत्थर और क्रेशर गिट्टी की 45 खदानों की लीज स्वीकृत की गई। लगभग 50 प्रतिशत वन क्षेत्र वाले पन्ना जिले में जहां दो सामान्य वन मण्डल उत्तर-दक्षिण, टाईगर रिजर्व, दो अभ्यारण गंगऊ और केन-घडि़याल स्थित है वहां इस ताबड़तोड़ अंदाज में रेवड़ी की तरह खदानों के उत्खनि पट्टा बांटने से कई गंभीर सवाल खड़े हो गये है। 

शिवनाराण सिंह चौहान के पहले पन्ना में जितने भी कलेक्टर रहे किसी ने भी अपने कार्यकाल में इतनी अधिक खदानें स्वीकृत नहीं की। पन्ना जिले में शिवनारायण सिंह चौहान का कार्यकाल 4 मार्च 2016 से लेकर 30 अगस्त 2016 तक रहा है। इस अवधि में जिन्हें उपकृत किया है उनमें जिले के चर्चित जनप्रतिनिधि अथवा उनके परिजन, विभिन्न दलों के राजनेता, पत्रकार, ठेकेदार,  खनन माफिया समेत कई प्रभावशाली लोग शामिल है। शायद इसीलिए सब कुछ गुपचुप तरीके से निपट गया। 

गौर करने वाली बात यह है कि अधिकांश खदानें जिले के दक्षिण वन मण्डल अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में स्वीकृत हुई है। जबकि दक्षिण वन मण्डल के डीएफओ अनुपम सहाय ने अपनी ओर से खदानों की स्वीकृति पर कड़ी आपत्ति जताई थी। उधर कमिश्नर की अध्यक्षता वाली समिति में बतौर सदस्य शामिल रहे श्री सहाय भी उन अधिकारियों में शामिल है जिन्होंने खदानों की स्वीकृति में अपनी मुहर लगाई है। तत्कालीन सागर कमिश्नर, पन्ना कलेक्टर के साथ समिति में दक्षिण वन मण्डल डीएफओ की इस हैरान करने वाली जुगलबंदी से खदानों की स्वीकृति के मुद्दे पर उनका दोहरा मापदण्ड उजागर हुआ है। 

इनकी स्वीकृत हुई खदान
उपेन्द्र प्रताप सिंह पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष पन्ना को देवरी में, 
लुकमान मोहम्मद पन्ना को कैमुरिया, 
श्रीकांत दीक्षित कांग्रेस नेता पन्ना को बीजादोह-खिलसारी, 
विवेक सिंह नागौद को बछौन, 
श्रीकांत दीक्षित कांग्रेस नेता पन्ना को कुटरहिया, 
नत्थू सिंह पन्ना को झांझर, 
मुन्नालाल जयसवाल पवई को कैमुरिया, 
आनंत मसुरहा टिकरिया पवई को चौपरा, 
अरविन्द सिंह यादव भाजपा नेता पन्ना को झांझर, 
अमित सिंह पन्ना को कैमुरिया, 
श्रीकांत दीक्षित कांग्रेस नेता पन्ना को नारदपुर, 
विनोद कुमार माली दुरेहा नागौद को जूड़ा, 
राजेन्द्र जैन सलेहा को बीजादोह-खिलसारी, 
भाजपा नेता मदनमोहन पाण्डेय के पुत्र मयंक पाण्डेय सलेहा को बछौन, 
भाजपा नेता के भाई दिनेश कुमार पाठक नचनौरा को घुटेही, 
रामस्वरूप चतुर्वेदी छतरपुर को जूड़ा, 
जिला पंचायत सदस्य सीमा साह लिलवार को बछौन, 
पूर्व मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह के रिश्तेदार सतेन्द्र सिंह पन्ना को दिया, 
चतुर कुमारी बराहो को चौपरा, 
पूर्व मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह के रिश्तेदार सतेन्द्र सिंह पन्ना को बछौन, 
इंडिया न्यूज संवाददाता मुकेश विश्वकर्मा पन्ना को बछौन, 
सुषमा जैन सलेहा को बछौन, 
संतोष पाण्डेय कटनी को हरदुआ, 
कांग्रेस नेता के रिश्तेदार राजकुमार परौहा लमतरा शाहनगर को घौना, 
सहारा समय संवाददाता शिवकुमार त्रिपाठी ककरहटी (पन्ना) को घौना, 
जिला पंचायत अध्यक्ष के भाई अनुराज सिंह यादव पन्ना को घौना, 
सत्येन्द्र सिंह देवराकलां को ताला, 
जीतेन्द्र सिंह यादव मोहडि़या पवई को घौना, 
राजेन्द्र सिंह इटौरी-मझगवां को घौना, 
श्री प्रकाश दुबे दनवारा को पिपरिया ज्योतिष, 
बुन्देलखण्ड विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष महेन्द्र सिंह यादव पन्ना को घौना, 
कांग्रेस नेता रावेन्द्र सिंह कटनी को घौना, 
भाजपा नेता के भाई अमोद पाठक सिली गुनौर को सिली, 
दिनेश कुमार खरे महेबा-अमानगंज को महेबा, 
सरोज तिवारी घटारी पन्ना को पड़ेरी, 
दुष्यंत सिंह सुंगरहा-गुनौर को सुंगहरा, 
भाजपा नेता के रिश्तेदार सुमन पाठक सिली -गुनौर को सिली, 
पूर्व नगर पालिका उपाध्यक्ष पन्ना की पत्नी इन्द्रा सिंह डहर्रा को पटेलपुरा, 
कांग्रेस नेता श्रीकांत दीक्षित पन्ना को बिलघाड़ी, 
अरूण कुमार छाछरिया सतना को तिदुनिहाई, 
रश्मि वैद्य बिजावर-छतरपुर को टांई, 
कांग्रेस नेता श्रीकांत दीक्षित पन्ना को सिली, 
भाजपा नेता के रिश्तेदार रानी पाठक ग्राम सिली को फरस्वाहा, 
रश्मि वैद्य बिजावर-छतरपुर को टांई 
एवं कांग्रेस नेता के पुत्र करूणेन्द्र प्रताप सिंह गल्लाकोठी पन्ना की ग्राम भानपुर 
;

No comments:

Popular News This Week