MP NEWS - आउटसोर्स कंपनी ने बिना पक्ष जाने 14 साल पुराने कर्मचारी को हटा दिया

New Bundelkhand Security Service Indore नाम की आउटसोर्स कंपनी ने 14 साल पुराने कर्मचारी की, बिना उसका पक्ष जाने, एक तरफा कार्रवाई करते हुए सेवा समाप्त कर दी। आउटसोर्स कर्मचारी बीआरसीसी ऑफिस आष्टा जिला सीहोर में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर काम करता था। 

आउटसोर्स कर्मचारी राजेश कुमार ने ईमेल के माध्यम से भोपाल समाचार डॉट कॉम को बताया कि 14 साल पहले उनकी नियुक्ति जनपद शिक्षा केंद्र आष्टा जिला सीहोर में डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर हुई थी। वह नियमित रूप से अपना काम कर रहे थे और जनपद शिक्षा केंद्र एवं जिला शिक्षा केंद्र के अधिकारियों को उनकी सेवाओं से कोई आपत्ति नहीं थी। लगभग 6 महीने पहले बीआरसीसी तरूण कुमार बैरागी द्वारा उन्हें प्रताड़ित किया जाना शुरू किया गया। तनाव इस कदर बढ़ गया कि एक दिन राजेश कुमार ने बीआरसीसी तरूण कुमार बैरागी को पत्र लिख दिया जिसमें अपनी परेशानियों का जिक्र करते हुए कहा कि यदि यही हाल रहा तो मैं आपके साथ कार्य करने में असमर्थ रहूंगा। 

इसी पत्र को आधार बनाकर बीआरसीसी तरूण कुमार बैरागी ने जिला शिक्षा केंद्र को और जिला परियोजना समन्वयक ने नियोक्ता कंपनी न्यू बुंदेलखंड सिक्योरिटी सर्विस इंदौर को पत्र लिख दिया। कंपनी ने भी अपने कर्मचारियों का पक्ष जानने की कोशिश नहीं की और एक तरफा कार्रवाई करते हुए उसकी सेवा समाप्त कर दी। मध्य प्रदेश में इस तरह की घटनाएं आम बात हो गई है। आउटसोर्स कर्मचारी लगातार सरकार से संरक्षण की मांग कर रहे हैं। श्रम कानून के तहत इस प्रकार से किसी भी कर्मचारी की सेवा समाप्त नहीं की जा सकती है, परंतु सरकार का संरक्षण नहीं होने के कारण मध्य प्रदेश में आउटसोर्स कर्मचारियों को आए दिन नौकरी से निकाला जा रहा है। 

विनम्र निवेदन: 🙏कृपया हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। सबसे तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें एवं हमारे व्हाट्सएप कम्युनिटी ज्वॉइन करें। इन सबकी डायरेक्ट लिंक नीचे स्क्रॉल करने पर मिल जाएंगी। कर्मचारियों से संबंधित महत्वपूर्ण समाचार पढ़ने के लिए कृपया स्क्रॉल करके सबसे नीचे POPULAR Category में employee पर क्लिक करें।



#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !