BHOPAL SAMACHAR - मुख्यमंत्री ने भिंड दूषित जल कांड की जांच के लिए समिति का गठन किया

मध्य प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने भिंड दूषित जल कांड की जांच के लिए एक समिति का गठन किया है। इसके अलावा वाटर सप्लाई करने वाली कंपनी को नोटिस भी जारी किया गया है। इससे पहले भिंड के कलेक्टर ने नगर परिषद के जल प्रदाय शाखा प्रभारी नीरू बघेल एवं पटवारी बृजमोहन भदौरिया को सस्पेंड कर दिया था। 

मेसर्स कल्याण टोल इन्फा प्राइवेट लिमिटेड इन्दौर को नोटिस जारी

चीफ मिनिस्टर ऑपरेशंस से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के निर्देश पर भिंड जिले के नगरीय क्षेत्र फूँफ के वार्ड क. 05, 06 एवं 07 में 10 जून को दूषित पेयजल की आपूर्ति की शिकायत को संचालनालय नगरीय प्रशासन एवं विकास ने गंभीरता से लिया है। संचालनालय द्वारा फूँफ में पेयजल का संचालन एवं संधारण कार्य के ठेकेदार मेसर्स कल्याण टोल इन्फा प्राइवेट लिमिटेड इन्दौर को दूषित जल प्रदाय करने के संबंध में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। 

मुख्यमंत्री ने दो दिन में जांच रिपोर्ट मांगी

इसके साथ ही संबंधित अधिकारी, परियोजना प्रबंधक को भी कारण बताओ नोटिस जारी करते हुये स्पष्टीकरण दो दिवस में दिये जाने के निर्देश दिये गये हैं। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुये मुख्य अभियंता स्तर पर जांच समिति गठित करते हुये जांच प्रतिवेदन दो दिवस में दिये जाने के निर्देश भी संचालनालय द्वारा जारी किये गये हैं। 

विनम्र अनुरोध 🙏कृपया हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। सबसे तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें एवं हमारे व्हाट्सएप कम्युनिटी ज्वॉइन करें। इन सबकी डायरेक्ट लिंक नीचे स्क्रॉल करने पर मिल जाएंगी। मध्य प्रदेश के महत्वपूर्ण समाचार पढ़ने के लिए कृपया स्क्रॉल करके सबसे नीचे POPULAR Category में Madhyapradesh पर क्लिक करें।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !