BHOPAL NEWS - व्यापम घोटाला चार्जशीट के बाद ED की बड़ी कार्रवाई, नारायण निर्यात की प्रॉपर्टी अटैच

Directorate of Enforcement (ED) ने M/s Narayan Niryat India Pvt Ltd की भोपाल में स्थित 26 करोड रुपए से अधिक की संपत्ति अटैच कर ली है। यह कार्रवाई व्यापम घोटाले में CBI द्वारा फाइल की गई चार सीट के आधार पर शुरू की गई है। Prevention of Money Laundering Act (PMLA), 2002 के अंतर्गत की गई। उल्लेखनीय है कि मेसर्स नारायण निर्यात इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का रजिस्टर्ड ऑफिस 5, DHAN MANDI , MANDSAUR, Madhya Pradesh, India - 458002 है। 

Narayan Niryat India Pvt Ltd MANDSAUR, Madhya Pradesh

व्यापम घोटाले में CBI द्वारा नारायण निर्यात इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, मंदसौर के खिलाफ व्यापम घोटाले में चार्जशीट पेश की गई थी। इसी चार्ज शीट के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जांच शुरू की गई। जांच में खुलासा हुआ कि, नारायण निर्यात इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के डायरेक्टर कैलाश चंद्र गर्ग एवं अन्य द्वारा UCO BANK के नेतृत्व में काम करने वाले बैंकों से 110.50 करोड रुपए की क्रेडिट सुविधाओं का लाभ उठाया। इन्ही सुविधाओं में सोया डी-ऑयल्ड केक की खरीद एवं इंटरनेशनल मार्केट में एक्सपोर्ट करने के लिए Letter of Credit (LC) और Export Packing Credit (EPC) शामिल है। 

Kailash Chandra Garg Director Narayan Niryat

जांच में यह पाया गया की कंपनी द्वारा स्वीकृत धनराशि का उपयोग उस काम के लिए नहीं किया गया एवं बैंकों से लोन प्राप्त करने के लिए फर्जी डाक्यूमेंट्स लगाए गए। इस प्रकार कंपनी ने बैंकों को धोखा दिया और LC/EPC के माध्यम से प्राप्त धनराशि को Padmawati Trading Company, Mandsaur Sales Corporation, Ramakrishna Solvex Pvt Ltd and Dhulatawala Exim Pvt Ltd इत्यादि कंपनियां के खातों में ट्रांसफर कर दिया गया। जबकि इन कंपनियों के साथ नारायण निर्यात इंडिया लिमिटेड कंपनी का कोई सौदा नहीं हुआ। उपरोक्त कंपनियों से नारायण निर्यात को कोई प्रोडक्ट प्राप्त नहीं हुआ। इस प्रकार नारायण निर्यात इंडिया लिमिटेड कंपनी द्वारा बैंकों के साथ 113 करोड रुपए से अधिक की धोखाधड़ी की है। 

इसके अलावा जांच में यह भी पता चला है कि ट्रांसफर की गई लोन की राशि का उपयोग मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र राज्य में कंपनियों के नाम पर प्रॉपर्टी खरीदने के लिए किया गया था। इन कंपनियों के नाम M/s Medaria Medical Tourism Pvt Ltd, M/s Maple Overseas Trade Pvt Ltd and M/s Vardhman Solvent Extraction Industries Ltd बताए गए हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने नारायण निर्यात इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के समूह में कुल 34 प्रॉपर्टी का पता लगाया गया है जो कंपनियों के नाम से है। इन सभी संपत्तियों को PMLA 5(1) के तहत संलग्न कर लिया गया है। 

About Kailash Chandra Garg 

नारायण निर्यात इंडिया प्राइवेट लिमिटेड पहली कंपनी है जिसमें कैलाश चंद्र गर्ग डायरेक्टर बनाया गया था और आज की तारीख में चार कंपनियों में डायरेक्टर हैं। 
  • SRI AMBIKA SOLVEX LIMITED, Whole-time director, 02 February 2010
  • NARAYAN NIRYAT INDIA PRIVATE LIMITED, Director, 29 September 2000
  • RAMKRISHNA SOLVEX PRIVATE LIMITED, Director, 30 September 2010
  • BBPS TRADING PRIVATE LIMITED, Director, 29 June 2023 

विनम्र अनुरोध 🙏कृपया हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। सबसे तेज अपडेट प्राप्त करने के लिए टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें एवं हमारे व्हाट्सएप कम्युनिटी ज्वॉइन करें। इन सबकी डायरेक्ट लिंक नीचे स्क्रॉल करने पर मिल जाएंगी। भोपाल के महत्वपूर्ण समाचार पढ़ने के लिए कृपया स्क्रॉल करके सबसे नीचे POPULAR Category में Bhopal पर क्लिक करें।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !