बंसल कंस्ट्रक्शन रिश्वत कांड में भोपाल और विदिशा से 2 और अधिकारी गिरफ्तार - MP NEWS

BANSAL GROUP की कंपनी BANSAL CONSTRUCTION WORKS PRIVATE LIMITED रिश्वत कांड में CBI द्वारा कार्रवाई के दूसरे चरण में भोपाल और विदिशा से NAHI के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ इस मामले में अब तक टोटल 8 गिरफ्तारी हो चुकी है। NAHI के सभी अधिकारियों पर आरोप है कि वह बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से रिश्वत ले रहे थे। 

NHAI BHOPAL के राजेंद्र कुमार गुप्ता और VIDISH के हेमंत कुमार गिरफ्तार

इस कार्रवाई में अब तक सीबीआई द्वारा टोटल 2 करोड रुपए बरामद किए गए हैं। कहा जा रहा है कि यह रकम बंसल द्वारा नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों को रिश्वत के रूप में दी गई थी। इस मामले में NHAI भोपाल के प्रोजेक्ट डायरेक्टर राजेंद्र कुमार गुप्ता और विदिशा प्रोजेक्ट डायरेक्टर हेमंत कुमार को भी सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके पहले रविवार को इस मामले में 6 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।

सीबीआई की कार्रवाई में अब तक 2 करोड रुपए बरामद

सीबीआई ने यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट में दी है। जिसके मुताबिक बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स लिमिटेड के डायरेक्टर्स, कर्मचारी और NHAI के नागपुर, हरदा, विदिशा, डिंडौरी और भोपाल में दफ्तर और घर समेत 16 ठिकानों पर सर्चिंग सोमवार को भी जारी रही। बंसल ग्रुप के डायरेक्टर अनिल बंसल, कुणाल बंसल और NHAI अफसरों से 90 लाख रुपए और बरामद किए। इस तरह अब तक बरामद रकम बढ़कर 2 करोड़ रुपए हो गई है। इससे पहले रविवार को बंसल ग्रुप के डायरेक्टर्स और NHAI अफसरों से 20 लाख रुपए की रिश्वत की रकम समेत 1.10 करोड़ रुपए बरामद किए थे।

रविवार को सीबीआई ने 6 गिरफ्तार किए थे

  • अरविंद काले, जनरल मैनेजर एंड प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई, पीआईयू, नागपुर
  • बृजेश कुमार साहू, डिप्टी जनरल मैनेजर एंड प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई, हरदा
  • अनिल बंसल, डायरेक्टर, बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स लिमिटेड
  • कुणाल बंसल, डायरेक्टर, बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स लिमिटेड
  • सी. कृष्णा, कर्मचारी, बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स लिमिटेड
  • छत्तर सिंह लोधी, बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स लिमिटेड

बंसल वाले NAHI वालों को रिश्वत क्यों दे रहे थे

CBI की ओर से रविवार रात को जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक सड़क निर्माण के लिए एनओसी और बिलों के लिए घूस दी जा रही थी। मामले में बंसल ग्रुप के दो डायरेक्टर अनिल बंसल, कुणाल बंसल और दो अन्य कर्मचारियों को आरोपी बनाया गया है।

बताया जा रहा है कि बंसल समूह के डायरेक्टर अपने कर्मचारियों के माध्यम से एनएचएआई के अधिकारियों को रिश्वत दे रहे थे। CBI ने नागपुर, भोपाल और हरदा समेत विभिन्न कार्यालयों और आवासों पर तलाशी ली। इस दौरान दस्तावेज, डिजिटल उपकरणों आदि के साथ 1.10 करोड़ रुपए नकद जब्त किए गए।

रिश्वत की रकम दिए जाने के बाद CBI ने पकड़ा

आरोप है कि बंसल कंस्ट्रक्शन वर्क्स लिमिटेड के कर्मचारी सी. कृष्णा और छत्तर सिंह लोधी नागपुर के आउटर रिंग रोड प्रोजेक्ट के लंबित बिलों के पेमेंट और प्रोजेक्ट कंपलीशन सर्टीफिकेट जारी करने के लिए एनएचएआई के अनिल काले, जनरल मैनेजर एंड प्रोजेक्ट डायरेक्टर, पीआईयू, नागपुर के संपर्क में थे।

प्रोजेक्ट डायरेक्टर अरविंद काले को रिश्वत की रकम 25 लाख रुपए पहुंचानी थी। इसमें से 20 लाख रुपए दोनों कर्मचारियों ने NHAI अफसरों की दी। सीबीआई ने रिश्वत की रकम की डिलीवरी के बाद दोनों को पकड़ लिया। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !