भोपाल पहुंची जेट स्ट्रीम, पढ़िए मौसम पर कितना असर पड़ेगा - MP NEWS

हिमालय के उस पार भारत के उत्तर पश्चिम की ओर से उठने वाली जेट स्ट्रीम, हिमालय, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा क्रॉस करते हुए मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल तक पहुंच गई है। इसके कारण आसमान में बादल दिखाई दे रहे हैं और तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज की जा रही है। ग्वालियर एवं आसपास के इलाकों में बारिश की गतिविधियां शुरू हो गई है। 

6 फरवरी के बाद फिर मौसम बदलेगा

सीनियर मौसम वैज्ञानिक डॉ. वेद प्रकाश सिंह ने बताया, 'वर्तमान में वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव है। बादल राजस्थान के दक्षिण-पश्चिम और मध्य हिस्से से होते हुए पूरे उत्तरी भारत को प्रभावित करने वाले हैं। साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम भी देखने को मिल रहा है, जो अरब सागर से नमी ला रहा है। इससे मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में असर पड़ेगा। मौसम वैज्ञानिक डॉ. सिंह ने बताया कि वेस्टर्न डिस्टरबेंस के गुजरने के बाद रात के टेम्प्रेचर में गिरावट होगी। ठंड का हल्का दौर फिर आएगा। 6 फरवरी के बाद फिर मौसम बदलेगा।

जेट स्ट्रीम क्या होता है 

वायुमंडल में 20 से 50000 फिट की ऊंचाई पर किसी विशालकाय सांप की तरह लहरा कर चलने वाली हवाओं को जेट स्ट्रीम कहते हैं। इन हवाओं की स्पीड 150 किलोमीटर प्रति घंटा होती है। यह पृथ्वी के पश्चिम दिशा से शुरू होती है और पूर्व की तरफ आगे बढ़ती है। यह हवाएं पृथ्वी के वायुमंडल को दो हिस्सों में बांट देती हैं। एक तरफ गर्म हवाएं होती हैं और दूसरी तरफ ठंडी हवाएं होती हैं। वायुमंडल में दोनों हवाओं के बीच कोई टकराव न हो इसलिए जेट स्ट्रीम दोनों हवाओं के लिए एक लाइन ऑफ कंट्रोल का काम करती है। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !