BHOPAL NEWS - स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक बिना स्क्रीनिंग समाप्त, पढ़िए क्या हालत हो गई है कांग्रेस की

मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पद पर कमलनाथ को हटाकर जीतू पटवारी को बिठाने का कोई खास असर दिखाई नहीं दे रहा है। कांग्रेस पार्टी जिस ढर्रे पर चल रही थी। लोकसभा चुनाव के लिए राजधानी भोपाल में स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में स्क्रीनिंग के अलावा सब कुछ किया गया और बैठक संपन्न हो गई। 

स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरमैन कमजोर 

महाराष्ट्र राज्य से राज्यसभा में संसद बनाकर भेजी गई सुश्री रजनी पाटिल को हिंदी राज्यों के लिए गठित की गई स्क्रीनिंग कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है। उन्हें गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, दिल्ली, दमन और दीव और दादरा व नागर हवेली राज्यों में ऐसे उम्मीदवारों की तलाश करनी है जो पार्टी को चुनाव में जीत दिला सकें। कांग्रेस पार्टी में स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष, हाई कमान की आंख नाक और कान होता है, लेकिन भोपाल आई सुश्री रजनी पाटिल काफी कमजोर दिखाई थी। 

मध्य प्रदेश में कमजोर कांग्रेस के कुछ सिग्नल

स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक के बाद सुश्री रजनी पाटिल ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि, हम प्रांत के सभी लोगों से मिले। अब दिल्ली में 8-9 तारीख को मीटिंग होगी। जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा होगी। (इतना सा दावा भी नहीं कर पाई कि इस बार मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन पहले से अच्छा होगा)। 

कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के प्रश्न पर सुश्री रजनी पाटिल ने कहा कि "वे तो हमारे बड़े नेता हैं, उनसे तो हम आग्रह करेंगे। जो भी लोगों ने कहा है, वो उन्हें बताएंगे।"। (सुश्री रजनी पाटिल को इतना भी नहीं पता की स्क्रीनिंग कमेटी से बड़ा कोई नेता नहीं होता। स्क्रीनिंग कमेटी फैसला लेती है। निवेदन नहीं करती।)। 

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में सुश्री रजनी पाटिल ने कहा कि यदि श्री सज्जन वर्मा और श्री जीतू पटवारी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे तो यह हमारे लिए अच्छा होगा। 

कुल मिलाकर स्क्रीनिंग कमेटी ने स्क्रीनिंग छोड़कर सब कुछ किया। पत्रकारों के सामने आकर कहा कि हम बहुत कमजोर हैं। कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से निवेदन कर सकते हैं। सज्जन वर्मा और जीतू पटवारी को निर्देशित नहीं कर सकते। बस ईश्वर से प्रार्थना कर सकते हैं कि अच्छे लोग चुनाव लड़ने के लिए हां कर दें। क्या हालत हो गई है कांग्रेस की। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !