18 साल से अधिक वाले स्टूडेंट्स हेतु PMVY, ₹15000 अनुदान और 3500 रुपए प्रशिक्षण भत्ता मिलेगा

मध्य प्रदेश सरकार के कौशल विकास एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गौतम टेटवाल ने बताया कि पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को सहायता देने के लिये पी.एम. विश्वकर्मा योजना शुरू की गई है। 

बिना गारंटी मिनिमम इंटरेस्ट रेट पर बिजनेस लोन

उन्होंने बताया है कि योजना में टूल किट खरीदने के लिये 15 हजार रूपये का अनुदान मिलेगा। साथ ही पहली बार में एक लाख और दूसरी बार में 2 लाख रूपये का सस्ता ऋण मिलेगा। प्रारंभिक प्रशिक्षण 5 से 7 दिन का और 15 दिन का एडवांस प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण के दौरान 500 रूपये प्रतिदिन भत्ता भी मिलेगा। प्रशिक्षण के बाद सर्टिफिकेट भी मिलेगा। प्रशिक्षण के लिये हितग्राहियों के चयन की प्रक्रिया जारी है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए योग्यता

योजना के लिये उम्र न्यूनतम 18 वर्ष होना चाहिए। पिछले 5 वर्षों में पीएमईजीपी स्वनिधि एवं मुद्रा योजना के तहत ऋण नहीं लिया हो। सहकारी सेवा में कार्यरत व्यक्ति और उनके परिवार के सदस्य इस योजना के तहत पात्र नहीं होंगे। एक परिवार से एक ही को लाभ मिलेगा।

पीएम विश्वकर्मा योजना के प्रोजेक्ट

कारीगर बढ़ई, सुनार, गुडिया और खिलौना निर्माता, नाव निर्माता, कुम्हार, नाई, अस्त्रकार, मूर्तिकार (पत्थर तराशने वाला), माला निर्माता (मालाकार), लोहार, मोची (चर्मकार)/ जूता कारीगर, धोबी, हथौड़ा, टूल किट निर्माता, राजमिस्त्री, दजी, ताला बनाने वाला, टोकरी, चटाई, झाडू निर्माता कॉयर बुनकर और मछली पकड़ने का जाल निर्माता शामिल है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए डॉक्यूमेंट

योजना के लिये आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक खाता और आधार कार्ड में मोबाइल नंबर लिंक होना अनिवार्य है। 

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए कहां संपर्क करें

कौशल विकास और रोजगार विभाग कार्यालय में संपर्क करें। यदि वह आपका रजिस्ट्रेशन करने से इंकार करें तो सीएम हेल्पलाइन में शिकायत करें और राज्य मंत्री श्री गौतम टेटवाल के ऑफिस में 094254 44519
संपर्क करें।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !