RGPV BHOPAL NEWS - गुंडा गैंग के सामने कमजोर प्रशासन, जुर्माना की राशि वसूल नहीं पाया

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में गुंडागर्दी चरम पर पहुंच चुकी है। मारपीट की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं। सितंबर के महीने में मारपीट की दो बड़ी घटनाओं में यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने 12 से अधिक दोषी विद्यार्थियों के खिलाफ जुर्माना की कार्रवाई की थी परंतु मैनेजमेंट अब तक विद्यार्थियों से जुर्माना की रकम की वसूली नहीं कर पाया है। डायरेक्टर का कहना है कि यदि वह जुर्माना नहीं देंगे तो हम उन्हें परीक्षा नहीं देने देंगे परंतु बड़ा सवाल यह है कि दोषी विद्यार्थी अभी भी कैंपस में है और उन्होंने माफी नहीं मांगी है।

कुछ विद्यार्थियों के पेरेंट्स भी नहीं आए

गौरतलब है कि दो माह पहले आरजीपीवी में रैगिंग और मारपीट के दो प्रकरण सामने आए थे। इस पर कार्रवाई करते हुए राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मैनेजमेंट ने 12 से अधिक विद्यार्थियों पर जुर्माना लगाया था। इस दौरान विद्यार्थियों के अभिभावकों को भी बुलाया गया था। कुछ अभिभावक विश्वविद्यालय पहुंच कर शपथ पत्र तक दे चुके हैं, लेकिन फिर भी दोषी विद्यार्थियों ने अपनी जुर्माना राशि जमा नहीं की है। कुछ विद्यार्थी जुर्माना की राशि कम करने के लिए प्रेशर बना रहे हैं जबकि कुछ विद्यार्थी ऐसे हैं जो जुर्माना की राशि जमा करने के लिए तैयार ही नहीं है।

सितंबर के महीने में दो बड़ी घटनाएं हुई थी

बीते चार सितंबर को जूनियर्स से रैगिंग के मामले में 26 सितंबर को विश्वविद्यालय के प्रशासन ने रैगिंग के दोषी विद्यार्थियों पर 25-25 हजार रुपये के साथ-साथ चार विद्यार्थियों पर पांच-पांच हजार का जुर्माना लगाया गया, लेकिन अब तक जुर्माना राशि जमा नहीं हुई। वहीं 24 सितंबर को हुई रैगिंग के एक मामले में 10 विद्यार्थियों को दोषी मानते हुए 25-25 हजार और 10-10 हजार का जुर्माना लगाया गया। अभी तक दोनों मामलों के जुर्माना राशि जमा नहीं किया गया है। दोनों मामलों के करीब दो-दो लाख रुपये बकाया है, लेकिन विवि प्रशासन जुर्माना वसूल नहीं सका है।

कुछ विद्यार्थियों ने जुर्माने की राशि जमा कर दी है, लेकिन कुछ ने अब तक राशि जमा नहीं की है। परीक्षा के लिए फार्म भरने से पहले दोषी विद्यार्थी जुर्माना राशि जमा कर देंगे, तभी वे परीक्षा में बैठेंगे।
- प्रो. एसएस भदौरिया, संचालक, आरजीपीवी 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है। 

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !