MP NEWS - ग्रामीण बोले पुल नहीं तो वोट नहीं, समझाने गई CEO की गाड़ी उसी नदी में फंस गई

मध्य प्रदेश के गांव में नदी पर पुल नहीं होने के कारण गांव वाले सालों से परेशान थे। इस बार उन्होंने नदी के पानी में खड़े होकर ऐलान किया कि यदि पुल नहीं तो वोट भी नहीं। उनको मतदान के लिए समझाने गई जनपद पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रुति चौधरी की गाड़ी इस नदी में फंस गई जिस पर ग्रामीण पुल बनाने की मांग कर रहे हैं। 

MP NEWS - महिला अधिकारी की सरकारी गाड़ी नदी की रेत में फंस गई

सिवनी मालवा के पत्रकार श्री विजय सिंह ठाकुर की एक रिपोर्ट के अनुसार, विधानसभा मुख्यालय से 45 किमी दूर माेरन नदी के दूसरी ओर बसे बैंठ गांव के लाेग वर्षाें से पुल की मांग कर रहे हैं। 10 दिन पहले ग्रामीणाें ने नदी में खड़े हाेकर पुल नहीं ताे वाेट नहीं के नारे लगाकर प्रदर्शन किया था। बुधवार शाम जनपद सीईओ श्रुति चौधरी ग्रामीणों को समझाने बैंठ पहुंची। गांव से डेढ़ किमी पहले ही नदी के घाट पर उनकी सरकारी गाड़ी नदी की रेत में फंस गई। काफी देर बार ग्रामीणों ने ट्रैक्टर से खींचकर गाड़ी निकाली। 

डेढ़ घंटे तक सीईओ ग्रामीणों के बीच रहीं। सीईओ श्रुति चौधरी का कहना है, 2 वर्ष पहले ग्रामीण यांत्रिकी विभाग ने एस्टीमेट बनाकर शासन को प्रेषित किया था। आचार संहिता समाप्त होने के बाद हम प्राथमिकता के आधार पर पुल निर्माण की कार्यवाही करेंगे। गौरतलब है कि यहां पुल न होने से लगातार 6 महीने तक बच्चे पढ़ाई करने के लिए गांव से बाहर नहीं जा पाते और ना ही जननी एक्सप्रेस पहुंच पाती है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !