BHOPAL NEWS - मावठ की बारिश ने कलेक्टर की लाज बचा ली, अब अतिक्रमण की परीक्षा

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के कलेक्टर श्री आशीष सिंह पर सवाल उठने लगे थे। भोपाल की हवा में प्रदूषण की मात्रा खतरे के निशान से ऊपर चली गई थी। लोगों को सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी। इसके बावजूद कलेक्टर कोई निर्णायक कदम नहीं उठा पा रहे थे। भला हो आसमान में आए बादलों का, मावठ की बारिश हुई और एयर क्वालिटी इंडेक्स में 100 अंकों की गिरावट हुई, 250 से नीचे गिरकर सीधा 150 पर आ गया।

भोपाल कलेक्टर PUC के साथ सेल्फी खिंचवा रहे थे

एयर क्वालिटी इंडेक्स फॉर भोपाल की चिंताजनक स्थिति के बाद कमिश्नर ने भोपाल कलेक्टर को बुलाकर फ्री हैंड दिया था। शहर की हवा में प्रदूषण को कम करने के लिए धारा 144 और प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करने की भी निर्देश दिए थे परंतु भोपाल कलेक्टर ने ऐसा कुछ भी नहीं किया। उन्होंने एक पेट्रोल पंप पर जाकर PUC के साथ सेल्फी खिंचवाई। अब प्रदूषण कोई पटवारी थोड़ी है जो कलेक्टर का फोटो देखकर डर जाएगा। भोपाल कलेक्टर ने प्रदूषण की रोकथाम के लिए एक और काम किया पेट्रोल पंप संचालक को बुलाकर एक स्कीम लांच कर दी कि जो कोई भी चार पहिया वाहन का मालिक किसी पेट्रोल पंप से फुल टैंक करवाएगा तो उसे PUC सर्टिफिकेट फ्री में दिया जाएगा। 

मावठ की बारिश ने प्रदूषण कैसे कम कर दिया

प्रदूषण यानी मनुष्य के स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने वाले ऐसे कण जिनका वजन बहुत कम होता है और जो हवा में उड़ते रहते हैं। जब मनुष्य सांस लेते हैं तो उनके शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और उनको बीमार कर देते हैं। जब भी बारिश होती है तो पानी की बूंदे इस प्रकार के प्रदूषण के कणों को जिला कर देती है जिसके कारण कणों का वजन बढ़ जाता है और वह जमीन पर ए गिरते हैं। इसके बाद इस बारिश के पानी में भाकर किसी नदी नाले में पहुंच जाते हैं यानी मनुष्यों पर से खतरा टल जाता है। 

भोपाल में कहां कितना प्रदूषण कम हुआ

  • टीटी नगर: रविवार सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तम एक्यूआई सबसे कम 161 और सबसे अधिक 270 रहा था। यह सोमवार को सबसे ज्यादा 130 तक ही गया। इसके अलावा यह पूरे दिन 100 के नीचे ही रहा।
  • पर्यावास भवन: रविवार सुबह सबसे कम 200 था, तो 250 के बीच रहा था। सोमवार सुबह यह 100 के नीचे आ गया।
  • ईदगाह हिल्स: सोमवार सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक 250 तक रहा था, लेकिन उसके अलावा पूरे समय यह 150 के नीचे रहा। रविवार को 250 से 300 के बीच रहा था।

कलेक्टर की अगली परीक्षा का नाम अतिक्रमण

अब भोपाल कलेक्टर श्री आशीष सिंह की अगली परीक्षा के कक्ष में है। इस पेपर का नाम है अतिक्रमण। NGT ने भोपाल की 600 से ज्यादा लोकेशंस पर अतिक्रमण हटाने की आदेश दिए हैं। श्री आशीष सिंह को आदेश का पालन करना है और दूसरी तरफ अतिक्रमणकारियों को पॉलीटिकल सपोर्ट मिला हुआ है। कुछ अतिक्रमण तो ऐसे हैं जो खुद नेताओं द्वारा किए गए हैं। गरीब एवं नियमों का पालन करने वाले नागरिकों की संपत्ति पर दो कलेक्टर कमिश्नर का बुलडोजर बड़ी आसानी से चल जाता है परंतु जब बात भोपाल के नेताओं की आती है तो JCB का पंजा भी कमजोर नजर आता है। अब देखना यह है किकलेक्टर श्री आशीष सिंह अपना बुलडोजर चला पाते हैं या फिर कोई नेता उनकी JCB का पंजा तोड़ कर चला जाएगा। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है। 
Tags

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !