JABALPUR कलेक्टर की कार्रवाई- प्रिंसिपल को हटाया, 1 बर्खास्त, 3 शिक्षकों की वेतन वृद्धि रोकी

जबलपुर।
 मध्य प्रदेश के जबलपुर कलेक्टर डॉक्टर इलैयाराजा टी कुंडम तहसील स्थित GOVT स्कूल पहुंच  बच्चों के सामने टीचर बन चाक लेकर बोर्ड पर कुछ सवाल छात्रों को हल करने के लिए दिए, जिसका जवाब छात्र नहीं दे पाए। कलेक्टर ने स्कूल में पदस्थ शिक्षकों पर कार्रवाई करते हुए प्राचार्य को तुरंत ही पद से हटा दिया, जबकि 3 टीचरों की वेतन वृद्धि रोक दी। स्कूल में पदस्थ कंप्यूटर ऑपरेटर की सेवा समाप्ति का नोटिस भी दे दिए।

जबलपुर कलेक्टर इलैयाराजा टी कुंडम हाई स्कूल तिलसानी और फिपरी पहुंचे, जहां पर उन्होंने स्कूल की शैक्षणिक व्यवस्थाओं का जायजा लिया और ब्लैक बोर्ड पर गणित के कुछ सवाल लिखे, जिन्हें छात्र हल नहीं कर पाए। कलेक्टर ने स्कूल की मूलभूत सुविधाओं के साथ शिक्षकों की उपस्थिति को लेकर काफी नाराजगी दिखाई। तिलसानी स्कूल में पदस्थ दो शिक्षिकाओं वह एक शिक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए वेतन रोकने के निर्देश दिए, जबकि प्रभारी प्राचार्य का प्रभार लेने सहित एक कंप्यूटर ऑपरेटर की सेवा समाप्ति के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए।

स्कूल में क्लास अव्यवस्थित, छात्र की उपस्थिति बहुत कम मिलने, बाथरूम गंदा होने, विद्यालय परिसर में गदंगी और बिना सूचना के अनुपस्थित रहने पर भागवती कुंजाम माध्यमिक शिक्षक एवं रंजना प्रजापति माध्यमिक शिक्षक को एक दिन का वेतन राजसात करने का आदेश जिला शिक्षा अधिकारी जबलपुर को दिया। साथ ही संस्था में प्रभारी प्राचार्य अर्चना यादव उच्च माध्यमिक शिक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। प्रभारी प्राचार्य को प्रभार से मुक्त करते हुए रीता चौबे उच्च माध्यमिक शिक्षक को प्रभारी प्राचार्य का दायित्व सौंपे जाने का आदेश जारी किया गया। भारत सिंह तेकाम भृत्य को अपने दायित्वों का निर्वहन में लापरवाही बरतने पर दो वेतनवृद्धि रोकने का आदेश जारी किया गया।

शासकीय हाईस्कूल तिलसानी में पदस्थ कमल सिंह मरकाम उच्च श्रेणी शिक्षक के शाला में हस्ताक्षर करने के बाद गायब होने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। राहुल द्विवेदी आउटसोर्स डाटा ऑपरेटर शासकीय हाई स्कूल तिलसानी कुण्डम के द्वारा कार्य में लापरवाही एवं बिना सूचना अनुपस्थित रहने पर सेवा समाप्ति करने के लिए पत्र लिखा गया। शासकीय प्राथमिक शाला फिफरी में पदस्थ कल्पना सिंह प्राथमिक शिक्षक के बिना सूचना अनुपस्थित रहने पर एक दिन का वेतन कटौती करने आदेश जारी किए गए।