MP NEWS- मुख्यमंत्री ने कहा, जबलपुर यूरिया घोटाला वालों पर ऐसी कार्रवाई करो कि दूसरा साहस ना करें

भोपाल
। जबलपुर यूरिया घोटाला मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान केवल FIR से संतुष्ट नहीं है। उन्होंने आज इस मामले का फॉलोअप लेने के लिए मीटिंग बुलाई। जबलपुर कमिश्नर को निर्देशित किया कि इस घोटाले में शामिल लोगों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई करो कि दूसरा कोई ऐसी गड़बड़ी करने का साहस न कर पाए। संकेत साफ है, FIR और गिरफ्तारी से काम नहीं चलेगा। कुछ और भी करना होगा। 

जबलपुर यूरिया घोटाले में अधिकारी और व्यापारी सब शामिल है

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जबलपुर क्षेत्र के किसानों के लिए भेजे गए यूरिया में से 70 प्रतिशत यूरिया शासकीय एजेंसियों और 30 प्रतिशत यूरिया निजी एजेंसियों से वितरित किए जाने के राज्य शासन द्वारा निर्देश दिए गए थे। इन निर्देशों का उल्लंघन करने वाले जो भी जिम्मेदार है उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। दोषियों को किसी भी स्थिति में छोड़ा नहीं जाएगा। उल्लंघन के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध ऐसी कार्यवाही की जाए, जिससे भविष्य में कोई भी इस तरह के कार्यों में लिप्त होने का साहस न कर सके। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान जबलपुर में यूरिया खाद की आपूर्ति के संबंध में कल दिए गए निर्देशों के क्रियान्वयन फॉलोअप की बैठक ले रहे थे। निवास कार्यालय पर हुई बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री शैलेंद्र सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री अजीत केसरी, संभागायुक्त जबलपुर श्री बी. चंद्रशेखर तथा जबलपुर पुलिस एवं जिला प्रशासन और मार्कफेड के अधिकारी वर्चुअली शामिल हुए।

प्रखंड की वैज्ञानिक तरीके से जांच करो, निर्दोष नहीं फंसना चाहिए: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री चौहान को जबलपुर संभागायुक्त ने जानकारी दी कि प्रकरण में दो स्तर पर कार्यवाही की गई है। अब तक तीन लोगों, बिलासपुर निवासी ट्रांसपोटर द्वारिका गुप्ता, भोपाल निवासी जयप्रकाश सिंह और नोएडा के राजेन्द्र चौधरी के विरूद्ध एफआईआर की गई है। जयप्रकाश सिंह और राजेन्द्र चौधरी को हिरासत में ले लिया गया है। जबलपुर के शुभम बिड़ला और नवीन झा से भी पूछताछ की जा रही है। साथ ही यूरिया बरामद करने के लिए विभिन्न गोडाउन पर छापेमारी की कार्यवाही भी जारी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह सुनिश्चित करें कि कोई दोषी बचे नहीं। प्रकरण की वैज्ञानिक तरीके से छानबीन की जाए, साथ ही अनावश्यक किसी निर्दोष को परेशान नहीं किया जाए।

मध्यप्रदेश में किसान को खाद की परेशानी नहीं होनी चाहिए: शिवराज सिंह

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसी भी जिले में किसी भी किसान को खाद की परेशानी नहीं होनी चाहिए। आवश्यक हो तो यूरिया की अग्रिम लिफ्टिंग की जाए। रबी फसल की आवश्यकता का आकलन कर पर्याप्त भंडारण किया जाए। ऐसी स्थिति कहीं निर्मित न हो कि किसानों को लाइन लगा कर या परेशान होकर खाद लेना पड़े। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर अशोकनगर से जिले में खाद की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त की।