शिवराज जी, इंदौर में प्रदर्शन कर रहे बेरोजगारों से बात तो करो: कमल नाथ- Khula Khat

प्रिय श्री शिवराज सिंह चौहान जी
, आपको विदित होगा कि नेशनल एजुकेटेड यूथ यूनियन के तत्वावधान में प्रदेश के हजारों बेरोजगार युवाओं, जो शासकीय सेवाओं हेतु वर्षों से विभिन्न भर्ती परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, के द्वारा 21 सितंबर, 2022 से इन्दौर में मध्यप्रदेश भर्ती सत्याग्रह किया जा रहा है एवं दिन-प्रतिदन इस आंदोलन का स्वरूप वृहत् होता जा रहा है। 

मुझे सूचना प्राप्त हुई है कि 27 सितंबर, 2022 से सत्याग्रही बेरोजगार युवाओं द्वारा क्रमिक अनशन प्रारंभ कर दिया गया है एवं प्रतिदिन पाँच युवा अनशन कर रहे हैं। हाल ही में इन्दौर में हजारों बेरोजगार युवाओं ने सड़कों पर उतरकर इस विषय पर अपना मुखर विरोध दर्ज कराया था परन्तु आश्चर्य एवं चिंता का विषय है कि बेरोजगार युवाओं की उचित एवं न्यायसंगत मांगों पर सरकार ने उनसे कोई संवाद नही किया और न ही कोई सरकारी प्रतिनिधि अब इस दिशा में पहल कर रहा है । बेरोजगार युवाओं के प्रति सरकार का यह रवैया स्वीकार योग्य नही है ।

मैं आपके संज्ञान में लाना चाहता हूँ कि प्रदेश के लाखों बेरोजगार युवा विगत 3 वर्षो से मध्यप्रदेश लोक सेवा एवं पी.ई.बी. (व्यापम) के माध्यम से भर्ती की प्रतिक्षा कर रहे है एवं सरकार की निरंतर उपेक्षा के कारण युवाओं द्वारा साझा सत्याग्रह एवं आंदोलन का मार्ग अपना लिया गया है । 

प्रदेश के इन बेरोजगार युवाओं की मांग है कि मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य सेवा भर्ती परीक्षा वर्ष 2019 2020 एवं 2021 की भर्ती प्रक्रिया को अविलम्ब पूर्ण किया जाये, अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण से जुड़े लंबित विषय का शीघ्र निराकरण किया जाये, व्यापम के माध्यम से आयोजित भर्ती परीक्षाओं को शीघ्र पूर्ण किया जाये एवं नवीन पदों के लिये भर्ती प्रारंभ की जाये, शिक्षक वर्ग 1, 2 एवं 3 के पदों में वृद्धि एवं भर्ती की जाये, प्रत्येक भर्ती की प्रक्रिया को अधिकतम 10 माह में पूर्ण किया जाये ।

इन्दौर से प्रारंभ हुआ युवाओं का सत्याग्रह अब प्रदेश के ग्रामों, कस्बों और शहरों के लाखों बेरोजगार युवाओं की आवाज बन रहा है। पूरे प्रदेश के बेरोजगार युवा भर्ती परीक्षाओं एवं रोजगार के लिये अपनी आवाज को बुलंद कर सरकार की नीति का मुखर विरोध करते हुये आंदोलनरत है और सरकार इन बेरोजगार युवाओं की अनदेखी कर रही है । प्रदेश सरकार की लाखों बेरोजगार युवाओं की मांगों के प्रति यह असंवेदनशीलता एवं संवादहीनता अत्यंत चिंता का विषय है ।

मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि सत्याग्रही युवाओं से संवाद कायम करते हुये प्रदेश के लाखों बेरोजगार युवाओं के भविष्य से जुड़े इन गंभीर विषयों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुये प्रदेश के लाखों बेरोजगार युवाओं के हित में शीघ्र निर्णय लेने का कष्ट करें ।
शुभकामनाओं सहित: आपका- कमल नाथ, पूर्व मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश, अर्द्ध शासकीय पत्र क्रमांक 844 दिनांक 28 सितंबर, 2022