BHOPAL में तकनीकी अतिथि व्याख्याताओं का आंदोलन, 3 दिन में कार्यवाही का आश्वासन मिला

मध्य प्रदेश शासन के तकनीकी शिक्षा विभाग के अंतर्गत कार्यरत पॉलिटेक्निक अतिथि विद्वान व्याख्याता संघ के सचिव दिनेश कुमार ने बताया कि तकनीकी शिक्षा विभाग के पॉलीटेक्निक एवं इंजीनियरिंग अतिथि व्याख्याताओं ने भोपाल के चिनार पार्क में धरना प्रदर्शन का आयोजन किया। 

तथ्य यह है कि लंबित विभागीय प्रक्रिया के कारण फिक्स मानदेय कार्यरत अतिथि व्याख्याताओं संबंधी कोई भी आदेश आज दिनांक तक जारी नहीं हुआ है। कार्यरत अतिथि व्याख्याता AICTE नियमानुसार योग्यता और अनुभव रखते हुए विगत 18 वर्षों से अधिक समय से कार्यरत होकर, पारदर्शी विभागीय प्रक्रिया द्वारा चयनित 946 अतिथि व्याख्याताओं के लिए 27 जनवरी 2022 को एकमुश्त वेतनमान प्रतिमाह रू 30000/- देने आदेश जारी किया गया था। किंतु विभाग की उदासीन और गैर मानवीय प्रशासनिक क्षमता के कारण अतिथि व्याख्याताओं का शोषण कई वर्षो से किया जा रहा है। 

विभागीय मंत्री द्वारा 3 दिन में कार्यवाही का मिला आश्वासन 

धरना प्रदर्शन के दौरान प्रदेश में वर्षा व मौसम की विपरीत परिस्थितियां होने बाद भी काफी अतिथि व्याख्याता उपस्थित हुए प्रशासन की अनुमति से राजभवन पहुंचकर महामहिम राज्यपाल जी की अस्वस्थता के चलते उनके निज सहायक को ज्ञापन दिया और उसके बाद 45 बंगले पर स्थित विभागीय मंत्री के निज सहायक को ज्ञापन दिया जिसमे विभागीय मंत्री जी की तरफ से 3 दिन में कार्यवाही का आश्वासन मिला। 

वर्तमान में उदासीन विभागीय प्रक्रिया के चलते गंभीर समस्याएं निराकरण हेतु निम्न है:-
1. कार्यरत अतिथि व्याख्याताओं के हित में वित्त विभाग द्वारा फिक्स 30 हजार मानदेय दिए जाने हेतु प्रस्तुत सहमति एवं अनुसंसा अनुसार आदेश जारी किया जावे।

2. विभाग द्वारा कार्यरत अतिथि व्याख्याताओं को वर्तमान सत्र में फिक्स मानदेय संबंधी स्पष्ट आदेश न जारी करने से प्राचार्यो में असमाजस की स्थिति बनी हुई है जिससे अतिथि व्याख्याताओं को नियुक्ति नहीं मिल पाने से छात्रों की पढ़ाई के साथ अतिथि व्याख्याताओं को आर्थिक नुकसान हो रहा है। अतः समस्या का निराकरण किया जावे।

3. संचालनालय द्वारा जारी आदेश 06.06.2022 के माध्यम से कार्यरत अतिथि व्याख्याताओं की जानकारी पोर्टल पर अपलोड करने हेतु संस्था प्राचार्यों द्वारा विभाग को दी जा चुकी होगी अतः पोर्टल चालू कर डाटा को सार्वजनिक किया जावे।

4. शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज टीकमगढ़ में पूर्व से कार्यरत अतिथि व्याख्याता संजय कुमार रजक और विकास कुमार साहू  को नियुक्ति देकर समस्या का जल्द निराकरण किया जावे। 

संघ के प्रदेश महासचिव देवीदीन अहिरवार ने कहा कि यदि तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा जल्द ही मांगो को पूरा कर आदेश जारी नहीं किया गया तो भविष्य में संघ द्वारा धरना प्रदर्शन, आंदोलन एवं कलमबंद अभियान जैसी गतिविधियां आयोजित की जावेगी। जिसका  उत्तरदायित्व शासन एवं प्रशासन का होगा।