आजाद अध्यापक-शिक्षक संघ फिर से आंदोलन की तैयारी कर रहा है- MP karmchari news

भोपाल।
मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग में सक्रिय आजाद अध्यापक-शिक्षक संघ के स्वयंभू अध्यक्ष भरत पटेल एक बार फिर शिवराज सिंह चौहान सरकार के खिलाफ आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं। इससे पहले भी वह कई आंदोलन कर चुके हैं परंतु कभी सत्ता का सिंहासन नहीं हिला पाए उल्टा सरकार ने जरूर कई बार उनकी जड़ें और अस्तित्व हिला कर रख दिया। 

इस बार आंदोलन का कारण पुरानी पेंशन, क्रमोन्नति एवं पदोन्नती बताया गया है। सबसे पहले पूरे प्रदेश में शिक्षकों के बीच माहौल बनाने के लिए 19 अगस्त को जिला स्तर पर बैठक आयोजित की जाएगी। अखबारों में प्रेस नोट छपवाए जाएंगे। फिर 4 सितंबर भोपाल में बैठक का आयोजन किया गया है। पिछली बार की तरह इस बार भी पहली बैठक छिंदवाड़ा में की जाएगी। इसके बाद मंदसौर और भिंड में बड़ी बैठक का आयोजन किया जाएगा। 

पिछली बार आजाद अध्यापक संघ ने 01 मई 2022 को विदिशा के श्रीगणेश मंदिर से ध्वज यात्रा शुरू की थी। 65 किलो मीटर की इस पदयात्रा में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थीं। इस यात्रा को भोपाल की सीमा पर सूखीसेवनिया में पुलिस ने रोक दिया था और शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री के सलाहकार शिव चौबे ने भरोसा दिलाया था कि 15 दिन में उनकी मांगों पर विचार का निर्णय लिया जाएगा पर ऐसा नहीं हुआ उल्टा आजाद अध्यापक शिक्षक संघ से जुड़े हुए कर्मचारी नेताओं के खिलाफ विभागीय लिखा पढ़ी शुरू हो गई। 

इसके कारण प्रांतीय नेताओं का कॉन्फिडेंस भी कमजोर हो गया है। मुरलीधर पाटीदार की तरह अनशन पर बैठने की हिम्मत फिलहाल किसी कर्मचारी नेता में दिखाई नहीं देती। देखते हैं भरत पटेल का यह आंदोलन किसके लिए कितना लाभकारी साबित होगा।