बैंक ऑफ बड़ौदा के खाता धारकों के लिए सूचना, कृपया ध्यान से पढ़िए- Hindi News

बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपने सभी खाताधारकों को SMS के जरिए सूचित किया है कि दिनांक 1 अगस्त से आरबीआई की गाइडलाइन के अनुसार पॉजिटिव पे सिस्टम लागू किया जा रहा है। इसके तहत 500000 एवं इससे अधिक का चेक तब तक क्लियर नहीं होगा जब तक कि उसकी डिजिटल कंफर्मेशन नहीं हो जाती। आइए हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देते हैं, जो आप जानना चाहते हैं।

BoB NEWS- डिजिटल कंफर्मेशन देनी होगी

बैंक ऑफ बड़ौदा की तरफ से क‍िए गए ट्वीट में जानकारी दी गई क‍ि हम आपकी बैंकिंग सेफ्टी को लेकर प्रतिबद्ध हैं। पॉजिटिव पे सिस्टम (BOB Positive Pay System) से हम ग्राहकों को क‍िसी भी प्रकार के चेक फ्रॉड से सुरक्षित रखना चाहते हैं। 1 अगस्‍त से 5 लाख रुपये से अधिक के चेक के ल‍िए आपको डिजिटली कंफर्म करना होगा ताकि आपके साथ क‍िसी भी प्रकार की धोखाधड़ी न हो पाए।

BoB NEWS- 5 लाख या अधिक का चेक वापस कर दिया जाएगा

अब से बैंक ग्राहक को क‍िसी को भी चेक सौंपने से पहले उसकी ड‍िटेल देनी होगी, ताकि बैंक बिना किसी पुष्टिकरण कॉल के पांच लाख रुपये के चेक को भुगतान के लिए आगे बढ़ा सके। बैंक सर्कुलर के मुताब‍िक 5 लाख या इससे ज्‍यादा के चेक का कंफर्मेशन नहीं होने पर चेक को वापस किया जा सकता है।

पॉजिटिव पे सिस्टम क्या है 

पॉजिटिव पे सिस्टम के अंतर्गत न‍िर्धार‍ित रकम से ज्‍यादा वाले चेक की जानकारी बैंक को पहले से देनी होगी। बैंक चेक का पेमेंट करने से पहले चेक की ड‍िटेल के बारे में दी गई जानकारी को क्रॉस चेक करता है। आरबीआई के इस न‍ियम को लागू करने के पीछे का कारण चेक के गलत इस्तेमाल को रोकना है।

5 लाख या अधिक के चेक की जानकारी बैंक को कैसे देंगे

पॉजिटिव पे सिस्टम लागू होने के बाद चेक जारी करने वाले को SMS, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम या मोबाइल बैंकिंग के माध्‍यम से चेक की डेट, बेनेफिशियरी का नाम, अकाउंट नंबर, कुल अमाउंट, ट्रांजेक्शन कोड और चेक नंबर की जानकारी बैंक को देनी होगी। चेक का पेमेंट करने से पहले इन जानकारियों को बैंक क्रॉस-चेक करेगा। गड़बड़ी पाए जाने पर बैंक चेक को र‍िजेक्‍ट कर देगा।

इन बैंकों में पहले से लागू है पॉज‍िट‍िव पे सिस्टम

बैंक ऑफ बड़ौदा से पहले देश के कई बैंक पॉजिटिव पे सिस्टम को लागू कर चुके हैं। इनमें भारतीय स्टेट बैंक (SBI), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank), एक्सिस बैंक (Axis Bank) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) शामिल है।