Small business ideas- ₹60 में 10 लीटर दूध बनेगा, सोचो कितना मुनाफा होगा

दूध, दही और पनीर कुछ ऐसे मिल्क प्रोडक्ट है जिनकी डिमांड कभी खत्म नहीं होती। भारत के ज्यादातर शहरों में 1 लीटर दूध के लिए ₹50 खर्च करने पड़ते हैं। यानी कि 10 लीटर दूध के लिए ₹500, जरा सोचिए यदि 10 लीटर दूध की लागत मात्र ₹60 हो जाए तो आपको कितना प्रॉफिट होगा। 

New startup ideas- high profit margin, high potential 

दूध के कारोबार में ज्यादा प्रॉफिट मार्जिन पाने के लिए डेयरी खोलना सबसे जरूरी है। आपकी दूध डेयरी में कुछ अंतर होगा। आप इसे TOFU MILK DAIRY कह सकते हैं। सोया मिल्क के लिए TOFU शब्द का उपयोग किया जाता है। लॉकडाउन के बाद भारत के बाजार में सोया मिल्क की डिमांड बहुत तेजी से बढ़ी है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि इसमें फैट नहीं होता। प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है। सभी शहरों में TOFU पनीर की बिक्री, सामान्य पनीर से ज्यादा हो गई है। 

सोया मिल्क बनाने के लिए जिन 3 मशीनों का उपयोग किया जाता है उनकी कुल कीमत ₹150000 के आसपास होती है। आप इंटरनेट पर सर्च कर सकते हैं। आसपास के किसी भी महानगर में इस मशीन के डीलर मिल जाते हैं। 1 किलो सोयाबीन से 10 किलो दूध बनता है या फिर 8 किलो दही या फिर डेढ़ किलो पनीर बना सकते हैं। 1 किलो सोयाबीन की कीमत ₹40 के आसपास होती है। बिजली का खर्चा और बाकी सब मिलाकर ₹20 से ज्यादा खर्च नहीं आएगा। इस प्रकार ₹60 में आपको 10 लीटर दूध मिल जाएगा। 

सोया मिल्क के फायदे

  • सोया मिल्क बच्चों और बुजुर्गों के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। 
  • सोया मिल्क में फैट नहीं होता। 
  • सोया मिल्क की लाइफ सामान्य दूध से ज्यादा होती है। 
  • सोया मिल्क में ज्यादा प्रोटीन होता है। 
  • सबसे खास बात यह है कि किसी भी प्रकार की मिलावट नहीं होती। 
  • किसी भी प्रकार के यूरिया का खतरा नहीं होता।