मध्य प्रदेश मानसून- बंगाली बादलों ने रफ्तार पकड़ी, 6 जिलों में भारी 29 में आंधी बारिश होगी- MP WEATHER FORECAST

भोपाल
। मध्य प्रदेश में मानसून को लेकर दो समाचार है। एक गुड न्यूज़ और दूसरा चिंता बढ़ाने वाला है। गुड न्यूज़ यह है कि बंगाल की खाड़ी से आने वाले बादलों ने रफ्तार पकड़ ली है। मध्य प्रदेश के बॉर्डर पर हलचल होने लगी है। चिंता बढ़ाने वाली खबर जाएगी अरब सागर से आने वाले बादलों पर पाकिस्तानी हवाओं का हमला हो गया है। वह महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश की तरफ आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं। 

मध्य प्रदेश के बॉर्डर पर पहुंचे बंगाल की खाड़ी के मानसून वाले बादल

पश्चिम बंगाल की खाड़ी से मध्य प्रदेश की तरफ आने वाले बादल शुरुआत में अपनी सामान्य गति से भी धीमी चल रहे थे। डर लग रहा था कि समय पर मध्यप्रदेश में पहुंच पाएंगे या नहीं, लेकिन अच्छी खबर यह है कि मध्यप्रदेश के आसमान में बंगाल की खाड़ी के बादलों की हलचल शुरू हो गई है। सतना और छिंदवाड़ा में बारिश के समाचार हैं। उम्मीद की जा रही है कि 18 जून तक मानसून के बादल भोपाल पहुंच जाएंगे। इस प्रकार 40% मध्यप्रदेश में मानसून की बारिश शुरू हो जाएगी। 

अरब सागर के बादलों पर पाकिस्तानी हवाओं का हमला

अरब सागर से मानसून के बादल तेज गति से मध्यप्रदेश की तरफ बढ़ रहे थे। बादलों के कुछ दल मध्य प्रदेश के आसमान तक पहुंच भी गए थे लेकिन अचानक पाकिस्तान की हवाओं ने हमला कर दिया। आसमान में दोनों का संघर्ष जारी है। यह लड़ाई महाराष्ट्र की आसमान में हो रही है। जीतने के बाद ही अरब सागर के मानसून के बादल मध्यप्रदेश में प्रवेश कर पाएंगे। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान, 29 जिलों में आंधी बारिश की चेतावनी

भारत मौसम विज्ञान विभाग के भोपाल केंद्र के अनुसार मध्य प्रदेश के उमरिया कटनी जबलपुर नरसिंहपुर छिंदवाड़ा और सिवनी जिलों में भारी बारिश की संभावना है। इसके अलावा रीवा सतना सिंगरौली सागर दमोह छतरपुर टीकमगढ़ पन्ना नर्मदापुरम हरदा बैतूल अनूपपुर शहडोल डिंडोरी मंडला बालाघाट रायसेन बुरहानपुर खंडवा खरगोन बड़वानी अलीराजपुर धार देवास गुना अशोकनगर शिवपुरी ग्वालियर एवं श्योपुर जिलों में आंधी के साथ हल्की बारिश और वज्रपात यानी बिजली गिरने की संभावना है। यह स्थिति दिनांक 18 जून 2022 तक बनी रहेगी।