MP NEWS- भारत का विभाजन अकल का काम था, कमलनाथ कांग्रेस के वाइस चेयरमैन ने कहा

भोपाल।
मध्यप्रदेश में कमलनाथ कांग्रेस के वाइस चेयरमैन, पूर्व मंत्री एवं विधायक सज्जन सिंह वर्मा का कहना है कि सन 1947 में भारत का विभाजन करना बुद्धिमानी का काम था। यहां उल्लेख करना अनिवार्य होगा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी की ओर से स्वयंभू सीएम कैंडिडेट कमलनाथ, संजय गांधी की विचारधारा का पुरजोर समर्थन करते हैं। जिन्हें आपातकाल में नागरिकों पर अत्याचार के लिए जाना जाता है। 

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं स्वयंभू सीएम कैंडिडेट कमलनाथ की उम्र और स्वास्थ्य उन्हें पूरे मध्यप्रदेश का दौरा करने की अनुमति नहीं देते इसलिए उन्होंने अपनी जगह सज्जन सिंह वर्मा को मध्य प्रदेश का दौरा करने के लिए भेजा है। आगर मालवा में पत्रकारों से बात करते हुए सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि यह लोग अखंड भारत की बात करते हैं। जरा सोचिए यदि बांग्लादेश, पाकिस्तान और इंडोनेशिया के लोग अखंड भारत में शामिल हो जाएंगे तो इनको खड़े रहने के लिए कहां जगह मिलेगी। 

कमलनाथ की कृपा से कांग्रेस पार्टी में शिखर की तरफ बढ़ रहे सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि सन 1947 में मोहम्मद अली जिन्ना और पंडित जवाहरलाल नेहरू ने बुद्धिमानी का काम किया और भारत का विभाजन कर दिया। इसके कारण कुछ लोग उधर चले गए और अपने लोग इधर आ गए। यह एक अक्ल का काम था और यह लोग जिन्ना और नेहरू को दोष दे रहे हैं। 

वैसे सज्जन सिंह वर्मा का बयान एक प्रकार से हिंदू राष्ट्र का समर्थन करता है।