MPPSC EXAM LAST MINUTE TIPS - लास्ट मिनिट टिप्स एमपीपीएससी परीक्षार्थियों के लिए

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा राज्यसेवा प्रारंभिक परीक्षा 2021 एवं राज्य वन सेवा परीक्षा 2021 का आयोजन दिनांक 19 जून 2022 को OMR पद्धति से ऑफलाइन मोड में होना है। यह परीक्षा दो शिफ्टों में आयोजित होगी। इस पेपर के लिए रिर्पोटिंग टाइम 9:30 बजे है। 

जिसमें पहली शिफ्ट का पेपर 1st (GS) सुबह 10:00 बजे से 12:00 बजे तक होगा और सेकंड शिफ्ट का रिपोर्टिंग टाइम दोपहर  1:45 है , सेकंड शिफ्ट का पेपर (C-Sat) 2:15 बजे से 4:15 बजे तक होगा। तो चलिए आज MPPSC एग्जाम देने से पहले कुछ महत्वपूर्ण Last Minute Tips की चर्चा करते हैं.

TIPS BEFORE THE EXAM 

1. प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले स्टूडेंट अक्सर सोचते हैं की  वो ब्रह्मांड से हटके, कुछ बहुत ही अच्छा,  एकदम नया कुछ  पढ़ लें जो की संभव ही नहीं है। इसलिए ऐसा बिल्कुल भी ना सोचा और आपके पास जो भी स्टडी मैटेरियल है, वही बेस्ट है और उसी पर पूरा विश्वास रखें और उसी को बार-बार रिवाइज करें।

2. अपनी पढ़ाई में 3R प्रिंसिपल का यूज करें। यानी Read, Revise and Reproduce. सबसे पहले पढ़ें, फिर उसे दोहराने का प्रयास करें और फिर आपने क्या सीख पाया इसकी जांच करें।
3. प्रिपरेटरी समय में ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें, प्रीवियस ईयर क्वेश्चन पेपर्स और नए प्रैक्टिस पेपर्स लगाकर प्रेक्टिस करें।

4. अगर आपके पास थोड़ा समय है तो आप बाजार से ब्लैंक ओएमआर शीट लाकर, मोबाइल में टाइमर लगाकर अपने प्रैक्टिस प्रैक्टिस सेट की प्रैक्टिस भी प्रैक्टिस भी भी कर सकते हैं। यह आपको एग्जाम के समय गोले भरने के में काफी  मदद करेगा।
5.इसके साथ ही अपनी हेल्थ और नींद का भी पूरा ख्याल रखें, जिससे कि आप अपना 100% दे पाएं।

6.आखिरी वाले दिन एकदम रिलैक्स रहें और एडमिट कार्ड में दिए गए सभी इंस्ट्रक्शन से संबंधित जो भी सामान आपको चाहिए,वह अपने पास एक जगह पर इकट्ठा करके रखें.जिससे एग्जाम देते जाते समय आपको किसी तरीके की हड़बड़ी ना हो।

TIPS DURING THE MPPSC EXAM

1 एडमिट कार्ड पर दिए गए सभी इंस्ट्रक्शन को फॉलो करके ही एग्जाम हॉल में जाएं। 
2. एग्जाम हॉल में अपनी सीट पर, अपना रोल नंबर ध्यान से देखकर ही बैठे और एकदम रिलैक्स रहें।
3. एग्जाम हॉल में बैठकर लोगों को देखकर यह ना सोचें अरे यह तो बड़ा पढ़ाकू है, इसने तो सब कुछ पढ़ लिया होगा या मैं ही बहुत अच्छा हूं / अच्छी हूँ और मैंने ही सब कुछ पढ़ा है। इस समय पर एकदम न्यूट्रल रहें और अपने इष्ट देवता या आराध्य या किसी अच्छी बात को   याद कर सकते हैं।

5. ऑफलाइन एग्जाम में सबसे इंपोर्टेंट होती है OMR Sheet, इसके मिलते ही तुरंत उस पर कोई कोई पर कोई तुरंत उस पर कोई कोई भी एक्शन ना लें। अगर आपको कोई जानकारी भरना नहीं आ रहा तो आप इनविजीलेटर से दो-तीन बार पूछ लें परंतु इसमें किसी भी प्रकार की गलती ना करें। ओएमआर शीट में गलती करने पर आपकी आंसर की कंप्यूटर द्वारा चैक नहीं की जाएगी और आप एग्जाम देने के बाद भी एग्जाम से बाहर हो जाएंगे। इसलिए इसे बड़े ध्यान से भरें।

6. human nature है कि हम अच्छी चीजों को देखकर खुश हो जाते हैं और वहीं जब अपने  पसंद की चीज नहीं होती तो हम निराश हो जाते हैं।
7. कई बार एग्जाम में ऐसा होता है कि जब हम question paper का फर्स्ट पेज ओपन करते हैं तो सबसे पहले क्वेश्चन ऐसे होते हैं जो हमारी पसंद के हैं और हमें आ रहे होते हैं और इसी खुशी में हम आगे के बहुत से क्वेश्चन गलत कर देते हैं। जिसे ओवरकॉन्फिडेंस या  ओवरएक्साइटमेंट कहते हैं।

8. और कई बार क्वेश्चन पेपर में ऐसा होता है कि हमारे सामने जो क्वेश्चन होते हैं, उनमें से हमें एक भी नहीं आ रहा होता, उस समय हम एकदम से negativity का शिकार हो जाते हैं और हमारा कॉन्फिडेंस कम हो जाता है इस कारण भी हम कई बार बाकी के क्वेश्चन के आंसर गलत लगा देते हैं।

9. इसलिए याद रखें कि शुरू के 5 क्वेश्चन आने या ना  य आने से बाकी के 95 क्वेश्चन्स पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा इसलिए अपने आप को हर कंडीशन के लिए रेडी रखें।
10. OMR sheet सीट में गोले भरते समय विशेष ध्यान रखें। आप पहले से ही डिसाइड कर लें कि आप किस तरह से पेपर सॉल्व करना चाहते हैं। पहले 10, 20 क्वेश्चन पढ़ें साथ और ओएमआर शीट में उनके आंसर फिल करें या पहले पूरा पेपर सॉल्व कर लें और अपने इसके बाद ओएमआर शीट में गोले भरना शुरू करें। इसमें भी समय का विशेष ध्यान रखें, यह सारा काम एग्जाम खत्म होने के 10 मिनट पहले ही हो जाना चाहिए।

11. क्वेश्चन पेपर में क्वेश्चन पढ़ते समय हम कई बार एक, दो क्वेश्चन्स बीच में छोड़ देते हैं कि हमको जब याद आ जाएगा तो हम करेंगे लेकिन इसी कारण कई बार ओएमआर शीट में  बड़ी भारी गलती हो जाती है। जिसके कारण बहुत सारे क्वेश्चन के आंसर के गोले गलत भरे हो जाते हैं क्योंकि जल्दबाजी में गोले भरते समय हमें यह ध्यान नहीं रहता कि हमने कोई क्वेश्चन छोड़ा हुआ था और उसके कारण पूरी सीरीज गलत हो जाती है।

12. आमतौर पर MPPSC के जनरल स्टडीज के पेपर में तो जो आंसर आपको आते हैं, वो आते हैं और जो नहीं आते वो आ ही नहीं सकते। इसलिए ज्यादा टाइम वेस्ट किए बिना अपने पेपर को समय पर पूरा करें।

परंतु सेकंड पेपर CSAT में आपको पेपर सॉल्व  करने के लिए टाइम चाहिए होता है इसलिए सीसैट पेपर में पहले पैसेज और आसान चीजें सॉल्व करें। इसके बाद ही कठिन चीजों की तरफ जाएं। क्योंकि Mppsc State Service Exam में फर्स्ट पेपर Cut off based है जबकि सेकंड पेपर से क्वालिफाइंग ही हैं। पहले उस part को सॉल्व करें जो आपको क्वालिफाईड करवा सकता है, इसके बाद बाकी का पेपर सॉल्व करें। Good Luck for Your Exam!!
भोपाल समाचार से जुड़े रहने के लिए कृपया टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। https://t.me/bhopalsamachar1