MP COLLEGE CORNER- यूजी का नया सिलेबस जारी, फिल्म संगीत जैसे नए विषय पढ़ सकेंगे छात्र

भोपाल। 
मध्यप्रदेश में उच्च शिक्षा विभाग ने यूजी काेर्स में सेकंड ईयर का नया सिलेबस जारी कर दिया गया है। छात्राें काे वैकल्पिक के ताैर पर भारतीय संगीत (तंत्र एवं ताल विद्या) विषय में फिल्म संगीत एवं वाद्याें का याेगदान, भरत नाट्यम, फैशन डिजाइनिंग और वैदिक-कर्मकांड भी पढ़ाया जाएगा। सभी काेर्स के छात्र इसे वैकल्पिक सामान्य (इलेक्टिव जेनरिक) विषय के ताैर पर चुन सकेंगे। इंडस्ट्रियल माइक्राेबॉयाेलॉजी-खाद्य सूक्ष्म विज्ञान जैसे विषय शामिल किए गए हैं।

इसमें फिल्मी गाने व संगीत रचनाएं सिखाई जाएंगी। भारतीय फिल्म संगीत के इतिहास से लेकर करियर के लिहाज से उसके भविष्य तक सब-कुछ पढ़ाया और सिखाया जाएगा। यही नहीं फिल्म संगीत में शास्त्रीय संगीत का पक्ष, संगीत शब्दावली और ताल व तंत्र वाद्याें का उपयाेग भी सिखाया जाएगा। यह एग्जाम 30 अंक का रहेगा। नई एजुकेशन पॉलिसी के पहले वर्ष में 25 वाेकेशनल विषय थे, लेकिन इस बार वैकल्पिक में कई नए विषय जाेड़े गए हैं। इसके बाद 2023 में फाइनल का सिलेबस बदलेगा। 2024 में इसे एमए, एमकॉम और एमएससी जैसे पीजी काेर्सेस में लागू किया जाएगा।

सभी काेर्स में जेनरिक में नए विषय जाेड़े 

बीकॉम, बीबीए, बीसीए, बीए के साथ बीएचएससी, हाेटल मैनेजमेंट, बीए पत्रकारिता व जनसंचार तथा प्राच्य संस्कृत शास्त्री जैसे काेर्स और बीए सहित सभी यूजी काेर्स का सिलेबस जारी कर दिया है। मैजर, जेनरिक माइनर, इलेक्टिव (वैकल्पिक) और फाउंडेशन के भी सिलेबस जारी कर दिए हैं। सभी काेर्स में जेनरिक में नए विषय जाेड़े हैं। फर्स्ट ईयर की परीक्षा के बाद छात्र सेकंड ईयर की क्लास में बैठेंगे।

2 वर्ष बाद पीजी में हाेगा

पीजी में दो साल का मास्टर्स होगा। यह उन छात्रों के लिए होगा, जिन्होंने तीन साल का डिग्री कोर्स किया है। अथवा चार साल का डिग्री कोर्स यानी ऑनर्स- जो रिसर्च के छात्रों के लिए होगा। ये छात्र एक साल का मास्टर्स कोर्स अलग से कर सकेंगे। तथा 5 साल का इंटीग्रेटेड प्रोग्राम वालों के लिए होगा।

रिजल्ट के बाद आवेदन कर सकेंगे

एक साल में सर्टिफिकेट के लिए अप्लाय कर सकेंगे। जून में परीक्षा शुरू हाेगी। अगस्त तक चलेगी। यह व्यवस्था फर्स्ट ईयर का रिजल्ट आते ही लागू हाे जाएगी। दूसरे वर्ष में डिप्लोमा और तीसरे वर्ष में डिग्री मिलेगी। तीसरे साल में जिस छात्र का जीडीपीए (7.5) रहेगा, उसे ही चौथे वर्ष में प्रवेश मिलेगा। चार साल पढ़ाई पूरी करने वाले छात्रों को ऑनर्स की डिग्री मिलेगी। उच्च शिक्षा, सरकारी और प्राइवेट नौकरी एवं करियर से जुड़ी खबरों और अपडेट के लिए कृपया MP Career News पर क्लिक करें.