GWALIOR NEWS - शादी से पहले दूल्हा फरार, गर्लफ्रेंड और दुल्हन दोनों ने कराई FIR

ग्वालियर।
मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में दूल्हा अपनी शादी से फरार हो गया। दूल्हे पर रेप का केस दर्ज होने के बाद वह बारात छोड़कर भाग गया। 4 साल तक वह लड़की के साथ लिव इन में रहा। इसके बाद दूसरी लड़की से शादी करने जा रहा था। पता चलते ही गर्लफ्रेंड ने लड़के के खिलाफ रेप का केस दर्ज करवा दिया। 

2 मई को शादी होना थी। गिरफ्तारी के डर से दूल्हा बारात लेकर मंडप तक नहीं पहुंचा। इसके बाद शादी कैंसिल कर दी गई। इधर, वधू पक्ष ने भी दूल्हे के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है। राजस्थान के धौलपुर राजा खेड़ा के रहने वाले हिमांशु रावत (26) पुत्र दिनेश रावत कारोबारी है। वह हरियाणा के गुरुग्राम में शिवानी होम हेल्थ केयर के नाम से सर्जिकल आइटम की कंपनी चलाता है। 4 साल पहले ग्वालियर में पढ़ाई के दौरान उसकी पहचान शिवपुरी की रहने वाली 23 वर्षीय युवती से हुई थी। दोनों में दोस्ती फिर प्यार हो गया। दोनों गुरुग्राम में भी रहे। 

जुलाई 2018 से 14 अप्रैल 2022 तक हिमांशु ने कई बार उसके साथ रेप किया। पहली बार हिमांशु युवती को इंदरगंज स्थित होटल मिडवे में ले जाकर रेप किया। हिमांशु दूसरी लड़की से शादी कर रहा था। 2 मई को कंपू में रहने वाली लड़की से शादी होनी थी। शादी समारोह झांसी रोड स्थित जीवाजी क्लब के मैरिज गार्डन में था। जब दूल्हे की गर्लफ्रेंड को इस बारे में पता चला, तो वह इंदरगंज थाना पहुंची। यहां हिमांशु के खिलाफ रेप का केस दर्ज करवा दिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी।

2 मई को हिमांशु को बारात लेकर आना था। जैसे ही, उसे रेप केस के बारे में पता चला, वह धौलपुर से बारात लेकर ही ग्वालियर नहीं पहुंचा। इसके बाद वधू पक्ष के घर हंगामा मच गया। वधू पक्ष के लोगों को मामले की जानकारी लगते ही उन्होंने शादी कैंसिल होने का बैनर लगा दिया। अब वधू पक्ष ने भी धोखाधड़ी की शिकायत कंपू थाने में की है।

दुल्हन के भाई मुकेश ने बताया कि वह बहन के लिए रिश्ता देख रहे थे। फेसबुक पर पहली बार हिमांशु रावत को देखा था। फोटो से अच्छा लगा तो उससे बात की। मुकेश ने पिता को हिमांशु के घर धौलपुर भेजा। खुद गुरुग्राम में भी उससे मिला, तब किसी ने कुछ नहीं बताया था। शादी से पहले दहेज के 7 लाख रुपए हिमांशु के परिवार को एडवांस दे चुके हैं। 2 मई को शादी की तैयारियां पूरी हो चुकी थीं। 

मुकेश ने बताया कि जब शाम को बारात के बारे में पूछा, तो मामले का पता लगा। 12 से 15 लाख रुपए खर्च हो चुके हैं। सीएसपी विजय भदौरिया का कहना है कि आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया है। 2 मई को उसकी शादी थी, लेकिन मामला दर्ज होने के बाद आरोपी बारात लेकर नहीं आया। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.