समोसा त्रिकोण क्यों होता है जबकि गोल बनाना ज्यादा आसान है- GK in Hindi

समोसा तो आपने खाया ही होगा। भारत में सबसे ज्यादा आलू का समोसा प्रचलित है। करोड़ों लोग समोसा के दीवाने हैं। समोसा को देखते ही भूख बढ़ जाती है। समोसा का त्रिकोण आकार, लोगों को आकर्षित करता है लेकिन क्या आप जानते हैं समोसा त्रिकोण क्यों होता है, जबकि गोल समोसा बनाना ज्यादा आसान होता है। आइए पता लगाते हैं:- 

आपने चाट वाले भैया को समोसा बनाते हुए भी देखा होगा। मैदा की लोई बनाने के बाद उसे रोटी की तरह गोल बनाया जाता है और फिर बीच में से आधा काट दिया जाता है। यानी कि समोसा बनाने का काम थोड़ा बढ़ जाता है। यदि उसे गोल ही रहने दिया जाता और बीच में मसाला भरकर तल दिया जाता तब भी स्वाद वैसा ही रहने वाला था, लेकिन फिर भी दुनिया भर में समोसा हमेशा तिकोना बनाया जाता है। इसलिए नहीं क्योंकि समोसा का आविष्कार करने वाले हलवाई ने सबसे पहले उसे त्रिकोण बनाया था इसलिए सारी दुनिया समोसा को वैसा ही बनाने लगी, बल्कि इसके पीछे एक दमदार साइंस छुपा हुआ है। 

दुनिया में सबसे पहले समोसे का जिक्र 11 वीं सदी में फारसी इतिहासकार अबुल-फज़ल बेहाक़ी द्वारा किया गया। उन्होंने बताया कि मोहम्मद गजनबी के शाही दरबार में एक नमकीन चीज पेश की जाती थी जिसमें कीमा और सूखे मेवे भरे होते थे। यहां तीनों चीजें महत्वपूर्ण है। पहला- शाही दरबार, दूसरा- कीमा और तीसरा- सूखे मेवे। यदि गोल बनाएंगे तो उसके फट जाने की संभावना बनी रहेगी। समोसा की पपड़ी को मजबूत होना बहुत जरूरी था। 

मिस्र के पिरामिड तो आपको याद ही होंगे। दुनिया में यदि किसी को सबसे मजबूत बनाना है तो उसे त्रिकोण बना दीजिए। यही कारण है कि समोसा को त्रिकोण बना दिया गया ताकि उसके अंदर भरा हुआ मसाला, उसके अंदर ही बना रहे।  Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article 
(इसी प्रकार की मजेदार जानकारियों के लिए जनरल नॉलेज पर क्लिक करें) यदि आपके पास भी हैं कोई मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। 
editorbhopalsamachar@gmail.com
(general knowledge in hindi, gk question answer in hindi, general knowledge questions in hindi, gktoday in hindi, general awareness in hindi)