एक पौधा जो मच्छरों को घर में घुसने नहीं देता, मलेरिया और डेंगू से बचाता है- Indian home remedies

Home remedies for mosquitoes , malaria and dengue 

मच्छर तो कोई भी हो परेशान करता है। उसकी आवाज सबको डिस्टर्ब करती है। मच्छर के काटने पर मलेरिया बुखार होने का खतरा हमेशा बना रहता है और मच्छर के कारण डेंगू बुखार तो जानलेवा होता है। मच्छर को अपने घर से दूर रखने के लिए बाजार में बहुत सारे प्रोडक्ट आते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं नर्सरी में मात्र ₹25 में मिलने वाला एक पौधा आपके पूरे घर को मच्छरों से मुक्त बना देता है। 

यह पौधा तुलसी की एक प्रजाति है जिसे 'मरुआ दोना' के नाम से पुकारा जाता है।इसकी पत्तियां कुछ बड़ी, नुकीली, मोटी, नरम और चिकनी होती हैं जिनमें से काफी तेज महक आती है। यह दो प्रकार की होती है ब्लैक और वाइट। ब्लैक मरुआ के फूल भगवान के चरणों में अर्पित किए जाते हैं जबकि वाइट मरुआ एक औषधीय पौधा है। इस की महक चमत्कारी होती है। 

यदि आप घर के द्वार पर सफेद मरुआ का पौधा लगाते हैं तो आप निश्चिंत हो सकते हैं क्योंकि इसके कारण घर के द्वार से मच्छर घर के अंदर प्रवेश ही नहीं करेंगे। यह किसी भी आधुनिक प्रोडक्ट से बेहतर है जो मॉस्किटो को आपके रूम से भगाने का दावा करते हैं। लॉजिक भी है कि घर के अंदर घुसे मच्छर को भगाने से बेहतर है कि मच्छरों को घर में घुसने ही नहीं दिया जाए। 

सफेद मरुआ का पौधा सिर्फ मच्छरों को नहीं रोकता बल्कि वात, पित्त और कफ को बैलेंस करता है। फूड प्वाइजनिंग, कृमि और कुष्ठ रोग में भी इसकी पत्तियों से औषधि बनाई जाती है। सबसे फायदेमंद बात यह है कि सफेद मरुआ तुलसी दरवाजे पर लगी होने से जहरीले कीड़े मकोड़े भी घर के अंदर नहीं आते, लेकिन इसकी खुशबू पूरे घर को सुगंधित बनाए रखती है।