CORONA NEWS- चौथी लहर शुरु, 7 राज्यों में 568 मरीज संदिग्ध, भारत में डेल्टाक्रॉन

नई दिल्ली।
भारत में कोरोनावायरस की चौथी लहर की शुरुआत हो रही है। कर्नाटक, तमिल नाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना और नई दिल्ली में 568 मरीजों को सर्विलांस पर लिया गया है। इन सभी में डेल्टाक्रॉन वायरस की मौजूदगी की संभावना है। कुछ नागरिकों में पुष्टि भी हो गई है। 

भारत में कोरोनावायरस की चौथी लहर, मास्क लगाओ

तेलंगाना टुडे के हवाले से मनी कंट्रोल में छपी रिपोर्ट के अनुसार, भारत के कोविड जीनोमिक्स कंसोर्सियम (INSACOG) और GSAID ने इशारा किया है कि देश में 568 मामले जांच के दायरे में हैं। रिपोर्ट के अनुसार कर्नाटक में 221 मामलों में डेल्टाक्रॉन (Deltacron) वेरिएंट के संकेत मिले हैं, जो हॉटस्पॉट बन गया है। इसके बाद तमिलनाडु में 90, महाराष्ट्र में 66, गुजरात में 33, पश्चिम बंगाल में 32 और तेलंगाना में 25 और नई दिल्ली में 20 मामले जांच के दायरे में हैं। 

डेल्टा और ओमिक्रॉन से मिलकर बना है डेल्टाक्रॉन

दवा नहीं किया गया लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि एक सुपर सुपर-म्यूटेंट वायरस, जिसका वैज्ञानिक नाम BA.1 + B.1.617.2 है। एक्सपर्ट्स ने कहा है कि डेल्टा और ओमिक्रॉन से मिलकर बना एक हाइब्रिड स्ट्रेन है, जिसे सबसे पहले साइप्रस के रिसर्चर्स ने पिछले महीने खोजा था। उस समय तो वैज्ञानिकों ने इसे लैब में हुई एक तकनीकी गलती समझा था लेकिन अब इसके ब्रिटेन में केस सामने आ रहे हैं। डेल्टाक्रॉन (Deltacron) कोरोना वायरस का एक हाइब्रिड वेरिएंट है जो डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट से मिलकर बनता है।

डेल्टाक्रॉन वायरस कितना खतरनाक है

वैज्ञानिकों का कहना है कि डेल्टा और ओमिक्रॉन से मिलकर बना नया वायरस कितना खतरनाक है, इसको लेकर कई स्टडी चल रही हैं, अतः दावे के साथ कुछ नहीं कहा जा सकता। यदि हम अपने एक्सपीरियंस की बात करें तो डेल्टा एक जानलेवा वायरस था एवं ओमिक्रॉन तेजी से फैलने वाला वायरस था। वैज्ञानिकों ने कहा था कि जो वायरस तेजी से फैलता है, वह जानलेवा नहीं होता। ओमिक्रॉन ने परेशान तो किया परंतु मृत्यु का कारण नहीं बना। अब डेल्टाक्रॉन सामने आया है। समझना मुश्किल है कि यह तेजी से फैल रहा है या जानलेवा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जनवरी 2022 में फ्रांस में इस वायरस के फैलने की शुरुआत हुई थी और पहला मामला सामने आया था। ब्रिटेन में यह बहुत तेजी से फैल रहा है, परंतु कहीं से भी दूसरी लहर जैसी स्थिति की सूचनाएं अभी तक नहीं है। भारत की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया INDIA NATIONAL NEWS पर क्लिक करें.