INDORE शहर में सफाई लेकिन दिमाग में गंदगी, इंदौर को शर्मसार करती मध्यप्रदेश एड्स कंट्रोल सोसाइटी की रिपोर्ट

इंदौर।
नंबर वन होना गर्व की बात है लेकिन बदनाम करने वाले मामलों में भी नंबर वन होना, सिस्टम पर सवाल उठाता है। इंदौर शहर में कोई बड़ी बदनाम बस्ती नहीं है लेकिन मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा लड़कियों के साथ-साथ लड़के भी इसी शहर में मिलते हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा मध्यप्रदेश एड्स कंट्रोल सोसाइटी ने किया है।

मध्यप्रदेश एड्स कंट्रोल सोसाइटी ने दावा किया है कि मध्य प्रदेश में इंदौर एक ऐसा शहर है जहां सबसे ज्यादा असुरक्षित संबंध बनाए जाते हैं। वैसे तो इस शहर के नागरिक पूरे देश में सबसे ज्यादा जागरूक माने जाते हैं परंतु इस मामले में यहां के लोग सबसे ज्यादा जोखिम उठाते हैं। कानूनी कार्यवाही के अलावा उन्हें बीमारियों का भी डर नहीं होता। किसी भी अनजान लड़की के साथ और कुछ लोग तो लड़कों के साथ एकांत बिताते हैं। 

मध्यप्रदेश एड्स कंट्रोल सोसाइटी द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार उन्होंने पूरे मध्यप्रदेश में करीब 35000 लड़कियों एवं महिलाओं को लिस्टेड किया है जो पैसों के बदले सेवाएं प्रदान करती हैं। इनमें 2513 लड़कियां एवं महिलाएं इंदौर में सक्रिय हैं। दूसरे नंबर पर आश्चर्यजनक रूप से छिंदवाड़ा 2464 और तीसरे नंबर पर सागर 1543 आते हैं। 

सोसाइटी के पास 12000 लड़कों की लिस्ट भी है। जो पैसों के बदले अप्राकृतिक व्यवहार के लिए राजी हो जाते हैं और यही इनकी इनकम का मुख्य जरिया है। इसमें भी सबसे ज्यादा 1570 इंदौर जिले में है। दूसरे नंबर पर ग्वालियर 849 और तीसरे नंबर पर जबलपुर 795 शामिल हैं। वैसे इस मामले में किसी जमाने में भोपाल बदनाम हुआ करता था।

उद्घोषणा- हमने इस समाचार में जानबूझकर उन शब्दों का प्रयोग नहीं किया। क्योंकि ऐसे मामलों में जानकारी ही गलतियों का कारण होती है। लोग उन शब्दों का प्रयोग करके इंटरनेट पर सेवाओं की तलाश करते हैं। इंदौर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया indore news पर क्लिक करें.